धर्मशाला, नीरज व्यास। Coronavirus Vaccination, जिला कांगड़ा के निजी अस्पतालों ने कोविड-19 टीकाकरण को लेकर अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं। जिला कांगड़ा में पंद्रह अस्पताल प्रधानमंत्री अारोग्य योजना के तहत चिन्हित हैं, जहां पर लोगों को कोरोना वैक्सीन लगेगी। जिला के इन 15 अस्पतालों की सहमति जरूरी है। उसके बाद ही स्वास्थ्य विभाग इन निजी अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा शुरू करवा सकता है। ऐसे में अभी तक जिला कांगड़ा में सिर्फ एक अस्पताल एमएमएस रोटरी आइ मारंडा ने ही अपनी सहमति दी है, जबकि अन्य 14 अस्पतालों ने अभी तक सहमति नहीं दी है।

वहीं, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गुरदर्शन गुप्ता ने बताया कि हिमचाल प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन टीकाकरण का तीसरा चरण शुरू हो गया है। अब निजी अस्पतालों में भी अगले सप्ताह से टीकाकरण का काम शुरू हो जाएगा। लेकिन अभी तक जिला में चिन्हित 15 में से एक ही अस्पताल रोटरी पालमपुर ने ही अपनी सहमति दी है। जबकि अन्य अस्पतालों से सहमति नहीं आई है। जब तक सहमति नहीं आती तब तक वहां पर लोगों को यह सुविधा नहीं दे सकते।

सात मार्च से शुरू होगी वैक्सीनेशन

कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए तीसरे चरण का अभियान जिला कांगड़ा में सात मार्च से शुरू हो रहा है। इसके लिए पंजीकरण शुरू हो चुका है। पात्र लोगों को टीकाकरण के लिए पहले पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को पात्र रखा गया है। 45 साल से अधिक अायु के विभिन्न रोगों से ग्रस्त व्यक्ति पात्र हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021