कुल्लू, जेएनएन। राजकीय प्राथमिक शिक्षक ने प्रदेश भर में पुरानी पेंशन की मांग पर प्रदर्शन किया। शिक्षक संघ ने एनपीएस की बजाय ओपीएस यानी पुरानी पेंशन देने की मांग की। कुल्‍लू में शिक्षक संघ कुल्लू ने प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक से ढालपुर होते हुए उपायुक्त कार्यालय तक रोष रैली निकाली। इस दौरान राजकीय अध्यापक संघ ने 15 सूत्रीय मांग पत्र उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा। इसमें मुख्य रूप से पुरानी पेंशन को तत्काल बहाल किया जाए। छठे केंद्रीय वेतन आयोग की अनुशंसा विसंगतियों को दूर करते हुए सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की अनुशंसा में संशोधन कर पहली जनवरी से संपूर्ण देश के प्राथमिक शिक्षकों के लिए एक समान रूप से लागू किया जाए।

राज्य में कार्यरत प्राथमिक सहायक अध्यापक तथा ईजीएस शिक्षकों को 31 मार्च 2019 से पूर्व नियमित कर समान वेतन दिया जाए। राष्ट्रीय शिक्षा नीति से शिक्षक विरोधी प्रावधानों को हटाया जाए। शिक्षक पात्रता परीक्षा शिक्षकों के व्यावसायिक प्रशिक्षण लेने से पूर्व ही आयोजित हो। आरटीई की अनुपालना करते हुए गैर शैक्षणिक कार्य करवाना बंद किया जाए। सभी पाठशालाओं में मुख्य शिक्षक के पद सृजित किए जाएं।

जेबीटी के लिए निर्धारित अंर्तजिला स्थानांतरण कोटा तीन प्रतिशत से पांच प्रतिशत किया जाए। हर पाठशाला शिक्षकों की तैनाती की जाए। प्री प्राइमरी कक्षाओं के लिए अध्यापकों की व्यवस्था की जाए। 20 वर्ष के सेवाकाल में बिना प्रमोशन के वेतन वृद्वि की जाए। नए जेबीटी अध्यापकों को 10 हजार तीन सौ और 4200 रुपये वेतन दिया जाए। खेलों में बजट का प्रावधान किया जाए। हर स्कूल में चतुर्थ क्षेणी कर्मचारी की नियुक्ति समेत अन्‍य मांगों को लेकर प्रदर्शन किया।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस