शिमला, जागरण संवाददाता। Himachal Politics, विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस व भाजपा ने अपना कुनबा संभालने के साथ तीसरे विकल्प को उभरने से पहले ही दबाने की कसरत शुरू कर दी है। करीब तीन माह पहले कांग्रेस व भाजपा के नेताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) की तरफ पलायन शुरू किया था। कई बड़े नेताओं ने आम आदमी पार्टी का दामन भी थाम लिया था। इस कड़ी में कांग्रेस को तो उनके युवा नेता ने बड़ा झटका दिया था। 40 लोगों के साथ दिल्ली में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए थे। अब कांग्रेस-भाजपा ने इन नेताओं की घर वापसी के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं।

इस कड़ी में भाजपा ने धर्मशाला से राकेश चौधरी व जिला परिषद शाहपुर के सदस्य जोगिंद्र पंकू की घर वापसी करवाई थी। अब कांग्रेस ने भी इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। कांग्रेस के कई नेता वापसी की तैयारी कर रहे हैं। हिमाचल कांग्रेस का एक बड़ा धड़़ा आम आदमी पार्टी में गए युवा नेताओं को पार्टी में लाने की पैरवी में लगा है। दावा किया जा रहा है कि आम आदमी पार्टी में गए नेता भी संपर्क में हैं।

कांग्रेस में घर वापसी के लिए दिल्ली से आने वाले नेताओं के समक्ष विस्तार से चर्चा होगी। पार्टी में लाने की पैरवी करने वाले नेता बिना किसी शर्त लाने की तैयारी में हैं। दूसरा धड़ा शर्त लगाने की बात कह रहा है। ऐसे में कांग्रेस हाईकमान क्या फैसला लेता है, इस पर सभी की नजर रहेगी।

Edited By: Virender Kumar