करसोग,संवाद सहयोगी। हिमाचल के जिला मंडी स्थित तहसील थुनाग के प्रेमकुमार को साहसिक कार्य के लिए सम्मानित किया गया है। जिला सिरमौर के नाहन में आयोजित राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में मुख्यमंत्री ज्यराम ठाकुर ने प्रेम कुमार पुत्र शिवराम निवासी नांघिनाल डाकखाना शंकरदेहर तहसील थुनाग को साहसिक कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र सहित शाल और टोपी पहनाकर सम्मानित किया। ऐसे में सम्मान मिलने पर क्षेत्रवासियों ने खुशी जताते हुए प्रेम कुमार को बधाई दी है। प्रेम कुमार ने 31 जुलाई को शंकरदेहरा में बादल फटने से सेरी खड्ड में बाढ़ की चपेट में आई 6 जिंदगियों को जान जोखिम में डालकर बचाया था। जिसमें 5 छात्रों समेत 1 महिला शामिल थी।

31 जुलाई को बादल फटने की घटना के समय प्रेमकुमार और उसके मामा का बेटा रविकांत बारिश से बचने के लिए रास्ते में पड़ने वाले निजी भूमि पर बने शेड का सहारा लिया था। जिसके थोड़ी ही देर में 4 छात्रों सहित एक महिला भी बारिश से बचने को शेड में आ गए, लेकिन उसी दौरान बादल फटने की आवाज सुनाई दी और देखते ही देखते खड्ड में जलस्तर बढ़ गया। जिस पर प्रेमकुमार ने सभी को शेड से बाहर निकल कर सुरक्षित जगह पर जाने को कहा और खुद भी चलाग लगाकर शेड से बाहर निकल गया।

इसके बाद जैसे ही प्रेमकुलार ने पीछे देखा तो शेड अपनी जगह पर नही था और महिला सहित मामा का बेटा और छात्र पानी के तेज बहाव की चपेट में आ गए थे और मलबे में फंसे सभी लोगों सहायता के लिए चिल्ला रहे थे। जिस पर प्रेम कुमार ने जान की परवाह किए बिना एक एक करके सभी को बाहर निकाल कर लोगों के सहयोग से अस्पताल पहुंचाया थाएसडीएम थुनाग पारस अग्रवाल का कहना है कि सिरमौर जिला में आयोजित राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री ने साहसिक कार्य के लिए प्रेम कुमार को प्रशस्ति पत्र देकर समानित किया है। जो सराज क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। उन्होंने साहसिक कार्य के लिए सम्मान मिलने पर प्रेम कुमार को बधाई दी है।

Edited By: Richa Rana