धर्मशाला, जेएनएन। पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े में तीन और गिरफ्तारियां हुई हैं। अब तक मामले में कुल 24 आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अभ्यर्थियों ने अपनी जगह सॉल्वरों को परीक्षा केंद्र में पेपर देने बैठाया था। पुलिस पूछताछ के आधार पर जिला कांगड़ा के विभिन्न स्थानों से आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों में एक संदीप कुमार पुत्र बख्शी राम निवासी मारन, डाकखाना गरयात थाना नूरपुर, प्रतीक गुलेरिया पुत्र जगदीश निवासी गगेड़ तहसील व थाना जवाली तथा साहिल कुमार पुत्र सुरेश कुमार निवासी दरकाटी तहसील व थाना जवाली को गिरफ्तार किया है। ज्ञात हो कि मामले में अब तक 24 युवकों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

यह है मामला

गत रविवार को परौर स्थित राधा स्वामी सत्संग भवन में हिमाचल पुलिस में कांस्टेबल के पद भरने के लिए लिखित परीक्षा ली गई। इस दौरान सीआइडी ने गुप्त सूचना पर छह अभ्यर्थियों सहित कुल 13 युवकों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद आरोपितों से पूछताछ के आधार पर पुलिस अब तक कुल 24 युवकों को गिरफ्तार कर चुकी है। बड़ी बात यह है कि परीक्षा देने वाले असली अभ्यर्थियों ने पैसे देकर हरियाणा और उत्तर प्रदेश व राजस्थान के सॉल्वरों को अपने स्थान पर बिठाया था। इस संबंध में पुलिस ने कांगड़ा सहित प्रदेश के सभी जिलों में बनाए गए परीक्षा केंद्रों में तीन दिन पहले ही अलर्ट किया था। अन्य जिलों में तो आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया गया था, लेकिन कांगड़ा जिले में पुलिस ने परीक्षा शुरू होने से पहले करीब 15 मिनट दबिश देकर आरोपितों को गिरफ्तार किया था।

यूं गिरफ्त में आए थे आरोपित

पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा 11 अगस्त रविवार को 12 बजे शुरू होनी थी। पुलिस को तीन दिन पहले ही असली अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वरों को बैठाने की सूचना मिल गई थी। पुलिस कर्मियों ने गुप्त सूचना पर परीक्षा शुरू होने से पहले ही परीक्षा केंद्र में दबिश दी। पुलिस कर्मचारियों ने सभी अभ्यर्थियों से पहाड़ी भाषा में बात की तो आरोपित चूंकि हिमाचल के नहीं थे, इसलिए वे हड़बड़ा गए। इससे पुलिस का शक पुख्ता हो गया। जब उन्होंने आरोपितों से चेस्ट नंबर सहित अन्य जानकारियां पूछी तो उनका पर्दाफाश हो गया। पहले दिन पुलिस ने छह अभ्यर्थियों सहित कुल 13 आरोपितों को गिरफ्तार किया था। अब तक मामले में 24 युवकों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है।

पुलिस ने मामले में अब तक कुल 24 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। कानून के खिलाफ काम करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। इस मामले में आगे भी और गिरफ्तारियां हो सकती हैं। सॉल्वरों से पूछताछ के आधार पर ही वीरवार को तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की कार्रवाई जारी है। -विमुक्त रंजन, पुलिस अधीक्षक कांगड़ा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप