सरकाघाट, भुताशन शर्मा। सफेद रंग की कमल के निशान वाली टोपी ने 360 महिलाओं की जिंदगी में रंग भर दिए हैं। इस टोपी को पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2017 में हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में एक जनसभा के दौरान पहना था। तब नरेंद्र मोदी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के शिलान्यास के लिए हिमाचल आए थे। अब यह टोपी फैशन बन गई है।

टोपी बनाने वाली मंडी जिले के सरकाघाट की आदर्शनी वेलफेयर सोसायटी की 360 महिलाओं को अब देशभर से आॅर्डर आ रहे हैं। वे अब तक एक लाख टोपियां बेच चुकी हैं। एक टोपी की कीमत 300 से 400 रुपये के बीच है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इस टोपी को पहना तो यह अब फिर चर्चा में आ गई। यही नहीं गृहमंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सहित प्रदेश के कई मंत्रियों की भी यह पसंद बनी है।

2015 में की थी टोपियां बनाने की शुरुआत

हिमाचल प्रदेश जुबेनाइल जस्टिस केयर एंड प्रोटक्शन ऑफ चिल्ड्रन मेंबर एवं आदर्शनी वेलफेयर सोसायटी की अध्यक्ष वंदना गुलेरिया ने बताया कि सोसायटी के सदस्यों ने 2015 में ऐसी टोपियां बनानी शुरू की थीं। पहले सोसायटी कई रंगों की टोपियां बनाती थी। सोसायटी की सदस्यों ने सफेद रंग की टोपी पर कमल का निशान बनाया। उन्होंने ऐसी तीन टोपियां जेपी नड्डा की पत्नी मल्लिका नड्डा को भेंट की थी। उन्होंने इसे पसंद किया और एक ब्रांड बनाकर महिलाओं को अपनी अजीविका बनाने का निर्देश दिया। पहली बार सोसायटी की इन टोपियां को भाजपा ने पन्ना प्रमुख सम्मेलन में खरीदा गया। लोकसभा चुनाव में मंडी में पन्ना प्रमुख के सम्मेलन में खूब डिमांड थी।

एम्स के शिलान्यास के लिए हिमाचल आए थे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2017 में बिलासपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के शिलान्यास के लिए जब बिलासपुर आए थे तो जेपी नड्डा ने ही उन्हें यह टोपी भेंट की थी। मोदी द्वारा इस टोपी को पहनने के बाद देश-विदेश से आदर्शनी वेलफेयर सोसायटी को ऑर्डर मिलना शुरू है हो गए। गुजरात के अहमदाबाद में महिला मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन में इस टोपी को बहुत पसंद किया गया।  इसके बाद सोसायटी को बंगाल, बेंगलुरु, तेलंगाना सहित कई राज्यों से भी आर्डर मिले।

300 से 400 रुपये में बिकती है टोपी

वंदना गुलेरिया ने बताया कि एक टोपी 300 से 400 रुपये तक बिकती है। अभी तक सोसायटी को एक लाख से ज्यादा टोपियां बनाने के आॅर्डर आ चुके हैं। मीरा ठाकुर, मधु, सरोज, राजकुमारी, निशा, शीला की अगुआई में सोसायटी की 360 सदस्याएं टोपियां बनाने का काम करती हैं।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस