टांडा, जागरण संवाददाता। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बीरता का हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा घोषित किया गया दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम खराब रहने पर अभिभावकों ने रोष जताया है। स्कूल के दसवीं के 40 में से सिर्फ पांच ही विद्यार्थी पास हुए हैं, जबकि एक को कंपार्टमेंट आई है। खराब परीक्षा परिणाम पर अभिभावकों ने स्कूल के शिक्षकों पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है।

उनका कहना है कि शिक्षा विभाग व प्रदेश सरकार बेहतर शिक्षा के दावे करते हैं, लेकिन इस प्रकार के रिजल्ट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी स्कूलों में कैसी पढ़ाई हो रही है। लोगों ने मांग की है खराब परीक्षा परिणाम पर अध्यापकों से जवाब मांगा जाना चाहिए। एसएमसी प्रधान सुभाष समेत सभी लोगों ने शिक्षा मंत्री से मांग की है कि स्कूल में पढ़ाई के स्तर को सुधारने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए। स्कूल में सारी व्यवस्थाओं को सुधारा जाए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस