शिमला, जेएनएन। प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुए प्रदेश सरकार हरकत में आई है। इस संबंध में अधिसूचना जारी की गई है कि प्याज का अधिक भंडारण नहीं किया जा सकेगा। प्रदेश के सभी जिला उपायुक्त प्याज के दाम और उसका मुनाफा तय करेंगे। प्याज की कीमतों को नियंत्रण करने के लिए प्रदेश सरकार ने अधिसूचना जारी की है। साथ ही सरकार राशन डिपो में भी कम दाम पर प्‍याज उपलब्‍ध करवाएगी।

खाद्य आपूर्ति विभाग ने इस संबंध में प्रदेश के सभी उपायुक्तों को निर्देश जारी कर दिए हैं कि जो भी प्याज को डंप करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह निर्णय प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए लिया गया है। अभी तक प्याज के भंडारण पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने आदेश जारी नहीं किए थे।

हिमाचल प्रदेश में भी प्‍याज के दाम अन्‍य राज्‍यों की तरह आसमान छू रहे हैं। एकाएक दाम में बढ़ोतरी होती जा रही है। प्रदेश में 100 रुपये प्रति किलोग्राम से भी ज्‍यादा दाम पर प्‍याज बेचे जाने की सूचनाएं आ रही हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार ने लगातार बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन को इसमें हस्‍तक्षेप करने का आदेश दिया है। अब प्रशासन के हस्‍तक्षेप से जमाखोरी समेत प्‍याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगने की उम्‍मीद जगती दिख रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस