जागरण संवाददाता, धर्मशाला : नगर निकाय के चुनाव परिणाम के बाद जिले की पांच नगर परिषदों सहित तीन नगर पंचायतों में प्रतिनिधियों का चयन हो गया है, बस अब इंतजार है तो इन निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के शपथ ग्रहण समारोह का, क्योंकि इससे पहले नगर निकाय के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष नहीं चुने जा सकते हैं। 18 जनवरी को जिला कांगड़ा के सभी नगर निकायों के लिए चुने गए जन प्रतिनिधियों का शपथ ग्रहण समारोह विभिन्न उपमंडलों में एसडीएम की अध्यक्षता में होगा। शपथ समारोह होने के बाद चुने गए प्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए किसी एक का चुनाव करेंगे।

अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए बहुमत साबित करने के लिए तीन चौथाई सदस्यों का होना जरूरी है। अब 18 जनवरी को यह भी तय होगा कि कहां पर किस के हाथ नगर निकाय की सरदारी भी रहती है। अगर नहीं बनी है सहमति तो मिलेगा कुछ समय

शपथ समारोह के बाद भी अगर आपस में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए सहमति नहीं बन पाती है तो कुछ समय और भी जन प्रतिनिधियों को इन दोनों पदों के चुनाव के लिए मिलेगा, जिसका समय संबंधित उपमंडल अधिकारी तय करेंगे, पर जिला परिषद के चुनाव परिणाम आने से पहले ही नगर निकाय के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद पर चेहरे तय भी करने होंगे। इन निकायों में साफ है स्थिति

नगर परिषद नूरपुर, देहरा, नगरोटा बगवां, कांगड़ा व ज्वालामुखी में पूरी तरह से स्थिति साफ है। यहां पर अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए चेहरे सामने भी हैं और इन्हीं चेहरों के नाम पर अंतिम मोहर भी लगेगी।

यहां अभी जारी है जोड़ तोड़

नगर पंचायत बैजनाथ पपरोला, जवाली व शाहपुर में अभी तक जोड़ तोड़ की राजनीति चली हुई है। यहां स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं है, लेकिन शपथ समारोह तक इन नगर पंचायतों में भी यह साफ होगा कि किस के हाथ में नगर पंचायतों की सरदारी भी होगी।

नगर निकाय के 66 वार्डो को मिलेंगे नए अध्यक्ष व उपाध्यक्ष

18 जनवरी को जिला कांगड़ा के 66 वार्डो के जनप्रतिनिधियों की शपथ के बाद 16 नए अध्यक्ष व उपाध्यक्ष मिलेंगे। नए अध्यक्ष व उपाध्यक्षों के चेहरों पर कुछ जगहों पर तो अंतिम मोहर भी लग चुकी है, बस अब इंतजार 18 जनवरी का सभी को है कि कहां पर किस नगर परिषद और नगर पंचायत में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष चुनकर सामने आते हैं।

18 जनवरी के होगा शपथ समारोह

नगर निकाय के लिए चुने गए जनप्रतिनिधियों के लिए शपथ समारोह का आयोजन 18 जनवरी को होगा। संबंधित उपमंडलों में एसडीएम की अध्यक्षता में नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलवाई जाएगी। इसके बाद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद भी चुने जाएंगे, लेकिन इसके लिए कोरम का पूरा होना भी जरूरी होगा।

राकेश प्रजापति, उपायुक्त कांगड़ा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021