नूरपुर, जेएनएन। न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ हिमाचल प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. संजीव गुलेरिया, जिला अध्यक्ष राजेंद्र मिन्हास व सहसचिव पंकज शर्मा ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस सरकार ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए उच्च स्तरीय कमेटी का गठन कर दिया है, अब हिमाचल में भी पंजाब के तर्ज पर पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने के लिए जयराम सरकार भी उच्च स्तरीय कमेटी का गठन करे, ताकि पुरानी पेंशन से वंचित सेवानिवृत्त कर्मचारियों एवं भविष्य में होने वाले सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पुरानी पेंशन का लाभ मिल सके।

एनपीएस कर्मचारी संघ को तपोवन धर्मशाला एवं चौड़ा मैदान शिमला में हुई रैली में सरकार ने यह आश्वासन दिया था कि जल्द ही हिमाचल में भारत सरकार द्वारा 2009 की अधिसूचना,  जिसमें दिव्यांग होने पर या न्यू पेंशन स्कीम में कार्यरत कर्मचारी की अकस्मात मृत्यु होने पर ऐसे कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम की सुविधा दी जाती है और कर्मचारियों को पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया  जाएगा। केंद्र सरकार की तर्ज पर दिव्यांग एवं दिवंगत होने पर कर्मचारी को मिलने वाली पारिवारिक पेंशन का लाभ भी प्रदान किया जाएगा, इस पर अभी तक कुछ नहीं हुआ है, जिससे एनपीएस कर्मचारियों में सरकार के प्रति रोष है।

महासंघ ने कहा कि राजनीतिक दलों से यह मांग करता है कि वह पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे को अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करें, नहीं तो हिमाचल प्रदेश के लाखों कर्मचारी वर्ग को अन्य विकल्पों के बारे में सोचना पड़ेगा, जिसमें नोटा या अन्य विकल्प भी हो सकता है, जिसका फैसला अप्रैल माह में होने वाली राज्य स्तरीय बैठक में लिया जाएगा।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस