डाडासीबा, जेएनएन। बडलठौर पचांयत में अब फेरी वाले बिना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाए प्रवेश नहीं कर सकेंगे। यदि कोई फेरीवाला बिना कोविड-19 की नैगेटिव रिपोर्ट दिखाएं प्रवेश करता है तो उसे जुर्माना भरना पड़ सकता है।

 

मंगलवार चार मई को पंचायत प्रधान सुमन शर्मा की अध्यक्षता में बैठक में यह सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पंचायत कार्य क्षेत्र में कोई भी फेरीवाला बाहरी व्यक्ति बिना अपनी कोरोना की रिपोर्ट के सामान बेचने के लिए प्रवेश नहीं करेगा ऐसा करने पर उसको भारी जुर्माना देना पड़ेगा। प्रधान सुमन शर्मा ने बताया कोरोना नियमों का पंचायत में सख्ती से पालन करवाया जाएगा। दूसरे राज्यों से आने वाले लोग भी पूरी सतर्कता के साथ अपने घर में प्रवेश करें उन्होंने समस्त पंचायत वासियों से करोना नियमों का पालन करने की भी अपील की।

पंचायत प्रधान सुमन शर्मा का कहना है कि दूसरे राज्यों के लोग फेरी वाले एक गांव से दूसरे गांव में घूमते रहते हैं इस कारण उनके कोरोना पॉजिटिव होने की अधिक आशंका रहती है यदि ऐसे में यदि कोई फेरीवाला कोरोना पॉजिटिव निकलता है और पंचायत में कई लोग उसके संपर्क में आते हैं तो वह स्थिति काफी गंभीर हो सकती है। इस स्थिति पर नियंत्रण करने के लिए यह फैसला लिया गया है उन्होंने लोगों से अपील की कि यदि कोई फेरीवाला गांव में किसी भी रास्ते से आता है तो  उससे कोविड-19 की रिपोर्ट अवश्य देखें और पंचायत को सूचना दें।

पंचायत प्रधान सुमन शर्मा ने बताया उन्होंने यही फैसला लिया है पंचायत प्रधान सुमन शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के चलते पंचायत में यह फैसला लिया है सभी फेरी लगाने वालों को पंचायत में आने पर अपने को ऑन नेगेटिव रिपोर्ट तथा पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य है कोई इस व्यवस्था को नहीं मानता है तो उसके खिलाफ पंचायत दंडात्मक कार्रवाई करेगी यदि फेरीवाले या भीख मांगने वाले पंचायत के अधिकार क्षेत्र में आने वाले गांव में जबरदस्ती घूम रहे हैं तो इसकी सूचना पंचायत प्रतिनिधियों को दें। पंचायत अपने स्तर पर भी कार्रवाई करेगी प्रधान ने लोगों से आग्रह किया कि सभी लोग मासक पहने और सतर्कता बरतें।

Edited By: Richa Rana