नाहन, जागरण संवाददाता। जिला सिरमौर के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं अब देश विदेश में भी अपना नाम चमका रही हैं। जहां जिला सिरमोर की बेटियां खेलकूद, पढ़ाई, नौकरियां व अन्य कार्यों में नाम रोशन कर रही हैं। वहीं जिला सिरमौर की महिलाएं भी स्वयं सहायता समूह बनाकर अपनी आर्थिकी मजबूत करने के साथ-साथ देश-विदेश में भी अपनी पहचान बना रहे हैं। जिला सिरमौर के पांवटा साहिब उपमंडल के बद्रीपुर के निनी हर्बल ग्रुप की महिलाओं ने विदेश तक अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। बद्रीपुर की आधा दर्जन महिलाओं ने मिलकर निनी हर्बल ग्रुप के नाम से उत्पाद तैयार किए हैं। यह उत्पाद देश के प्रथम शी हाट बाग पशोग से लेकर विदेशों तक पहुंचा रही हैं। स्पेन और मस्कट में रहने वाले हिमाचल तथा भारतीय लोग इस ग्रुप से शैंपू, साबुन, फेसपैक व गुलाब जल ऑनलाइन मंगवा कर प्रयोग कर रहे हैं।

निनी हर्बल ग्रुप की प्रधान नरेंद्र पाल कौर ने महिलाओं को आर्थिक रूप से निर्भर बनाने के लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाया। जिसमें नीलम सैनी, जसविंदर कौर, सुनीता देवी, रजनी, पूनम और रिति शामिल है। 3 वर्ष पहले समूह को नाबार्ड से जोड़ा गया तथा नाबार्ड से आर्थिक सहायता तथा प्रशिक्षण प्राप्त कर यह महिलाएं अब शैंपू, साबुन और फेसबुक तैयार करती हैं। वर्ष 2020 में तत्कालीन उपायुक्त डाक्‍टर आरके परुथी ने इस ग्रुप के सामान को शी हॉट में सेल के लिए रखा तथा जहां पर देश-विदेश से आने वाले पर्यटक इन के उत्पाद को अच्छे दामों पर खरीद रहे हैं। वही राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय व राज्यस्तरीय मेलों में भी इस समूह के उत्पाद हाथों हाथ बिक जाते हैं।

नरेंद्र पाल कौर ने बताया कि समूह की ओर से साबुन, शैंपू, फेस पैक गुलाबजल, दंतमंजन, हेयर आयल, तुलसी अर्क, गिलोय जूस व ग्रीन टी सहित कुल 24 उत्पाद तैयार किए जाते हैं। इस समूह के प्रयासों को देखते हुए प्रदेश सरकार तथा खंड विकास कार्यालय पांवटा साहिब की ओर से उन्हें 3. 65 लाख रुपये से सोलर हेयर ड्रायर की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है। इसमें छोटे स्तर पर कार्य कर रहे समूह को फलों व सब्जियों को सुखाने में मदद मिलती है। साथ ही समय पर उत्पाद के तैयार हो जाता है। यह सब उत्पाद बेचकर समूह की अच्छी आमदनी प्राप्त कर रही हैं

Edited By: Richa Rana