संवाद सहयोगी, पालमपुर : स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने कहा सिविल अस्पताल नगरोटा बगवां जल्द स्तरोन्नत होगा तथा सौ बिस्तर की व्यवस्था की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा प्रदेश सरकार ने सभी नागरिकों की स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित किया है। अगले 10 दिन में 200 नए चिकित्सक नियुक्त किए जाएंगे तथा पैरामेडिकल के भी विभिन्न पद भरे जा रहे हैं।

यह बात उन्होंने सोमवार को मनसिंबल में बेटी बचाओ अभियान पर आयोजित कार्यशाला में कही। उन्होंने कहा कन्या भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक कुरीति को जड़ से उखाड़ने में समाज के साथ चिकित्सकों की भूमिका महत्वपूर्ण है। ¨लग अनुपात में असंतुलन ¨चतनीय है और इस अनैतिक कार्य में लिप्त लोगों के लिए सरकार ने कड़ी सजा का प्रावधान किया है। स्वास्थ्य विभाग को अल्ट्रासाउंड केंद्रों की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

नगरोटा बगवां के विधायक अरुण कुमार ने कार्यशाला के लिए स्वास्थ्य विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा सरकार अपने स्तर पर तो प्रयास कर रही है, लेकिन इसके लिए समाज के प्रत्येक वर्ग की सहभागिता जरूरी है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी कांगड़ा डॉ. गुरदर्शन गुप्ता ने कहा जिले में कुल 67 अल्ट्रासाउंड सेंटर कार्यरत हैं। इसमें 40 सरकारी और 27 निजी क्षेत्र में संचालित किए जा रहे हैं। इन केंद्रों की निरंतर जांच स्वास्थ्य विभाग की ओर से की जा रही है। ¨लग जांच कानूनी को अपराध घोषित किया गया है व अवहेलना पर 50 हजार से एक लाख रुपये तक जुर्माना और पांच साल की सजा का प्रावधान है। स्वास्थ्य मंत्री ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले समूहों को 10-10 हजार रुपये देने का घोषणा की। इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री ने अक्षैणा में जनमस्याएं सुनीं और मौके पर ही निपटारा कर दिया।

कार्यशाला में स्वास्थ्य मंत्री की पत्नी शर्मिला परमार, विधायक की पत्नी सोनिया डढवाल, भाजपा मंडलाध्यक्ष देशराज शर्मा, महामंत्री चंद्रवीर, महिला आयोग सदस्य सुषमा भट्ट, तनु भारती, रागिनी रुकवाल, आरती शर्मा, आंचल राणा, एसडीएम पंकज शर्मा, डीएसपी विकास धीमान, डॉ. राजेश गुलेरी, डॉ. सुभाष शर्मा सहित अन्य मौजूद रहे।

वहीं गांव भट्टू समूला के दंपती राजकुमार व मधु माला ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व स्वास्थ्य मंत्री विपिन ¨सह परमार का उनके दिव्यांग पुत्र 14 वर्षीय मृदुल के दिल के ऑपरेशन के लिए राशि उपलब्ध करवाने के लिए आभार प्रकट किया है। मृदुल दिव्यांग होने के कारण शायद कुछ समझ पाने में असमर्थ था, लेकिन उसके चेहरे पर नया जीवन पाने की झलक साफ नजर आ रही थी। अक्षमता के कारण भी भीड़ के बीच से आगे आकर स्वयं स्वास्थ्य मंत्री से हाथ मिलाकर धन्यवाद किया। इसके बाद भगवान दास निवासी फरेड़ ने भी बच्चे के ऑपरेशन का सारा खर्च देकर नया जीवन देने के लिए सरकार का आभार प्रकट किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप