गगल, जेएनएन। नागरिक सुरक्षा संस्था के प्रदेशाध्यक्ष पीसी गुलेरिया ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, सांसद किशन कपूर, एयरपोर्ट निदेशक किशोर शर्मा तथा उपायुक्त को पत्र लिखकर आगाह किया है कि कांगड़ा एयरपोर्ट जोकि भूकंप ग्रस्त जोन पांच में यानी अतिसंवेदनशील खतरनाक क्षेत्र में आता है का अधिक विस्तार तर्कसंगत नहीं है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र के साथ भारतीय वायुसेना का वह पत्र भी संलग्न किया है जिसमें एयरपोर्ट के विस्तार के बारे 13 अप्रैल 2018 को भेजे पत्र में स्पष्ट किया है कि भारतीय वायु सेना द्वारा एयरपोर्ट के विस्तार की कोई योजना नहीं है।

21 फरवरी 2018 को संस्था ने केंद्रीय मंत्री को पत्र लिखकर एयरपोर्ट की वास्तविक स्थिति से अवगत करवाया था कि भूकंप ग्रस्त क्षेत्र होने के कारण जेट और बड़े विमानों की लैंडिंग के समय होने वाली सोनिक बूम ध्वनि की कंपन से इलाके के भवन गिर सकते हैं। उन्होंने पत्र में एयरपोर्ट के दोनों और नदियां होने का भी उल्लेख किया था तथा यह भी लिखा था कि यह एयरपोर्ट एक पहाड़ी पर बना है जो भौगोलिक दृष्टि से सही नहीं है अपने पत्र में गुलेरिया ने मांग की है कि तथ्यों को ध्यान में रखते हुए कांगड़ा एयरपोर्ट का अधिक विस्तार न किया जाए और अगर विस्तार किया गया तो इससे गगल बाजार तो उजड़ेगा ही और साथ में 10 पंचायतों के लोग भी प्रभावित होंगे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस