मंडी, जागरण संवाददाता। नगर निगम चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी रणनीति पर काम आरंभ कर दिया है।  दो धड़ों में बंटी सदर कांग्रेस को एक मंच पर लाने के मंडी के गांधी भवन आश्रय शर्मा व चंपा ठाकुर की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक आगामी रैली की तैयारियों को लेकर थी। इसमें मौजूदा टिकट के दावेदारों के बीच आपसी सहमति बनाने का प्रयास भी किया गया। बता दें कि मंडी से 15 वार्डों में प्रत्येक वार्ड से तीन  से पांच दावेदार हैं। कांग्रेस की पूर्व में हुई बैठकों में आश्रय शर्मा लगातार नदारद रहे थे। कार्यकत्र्ता भी बड़े नेताओं और प्रभारी के समक्ष बार-बार उनको न आने पर सवाल उठाते रहे।

साथ ही सभी को एक साथ लेकर चलने की बात कही। ऐसे में सोमवार को रैली की तैयारियों से संबंधित बैठक के बहाने चंपा ठाकुर और आश्रय शर्मा को एक मंच पर लाया गया। बैठक में नगर निगम के वार्डों में चुनावी टिकट के तलबगार भी शामिल थे। बैठक में जहां आगामी रैली को लेकर चर्चा की गई वहीं अधिक से अधिक संख्या में कार्यकर्ताओं को लाने का आह्वान किया गया। हालांकि कांग्रेस ने सर्वे को टिकट का आधार बताया है लेकिन पूर्व मंत्री जीएस बाली के मुताबिक दावेदारों को अधिक से अधिक समर्थक रैली में लाने की बात कही थी।

ऐसे में इस रैली की भीड़ टिकट के दावेदारों का भविष्य भी तय करेगी। हालांकि बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि आपसी सहमति बनाई जाए, ताकि टिकट आवंटन के बाद किसी रह की दिक्कत का सामना कांग्रेस को न करना पड़े। ऐसे में सोमवार को हुई बैठक कई मायनों में महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021