बद्दी (सोलन), रणेश राणा। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिला के बद्दी की 22 वर्षीय मुस्कान जिंदल ने भारतीय सिविल सेवा परीक्षा में 87वां स्थान हासिल कर मान बढ़ाया है। मुस्‍कान ने अपनी सफलता को श्रेय माता-‍पिता को दिया है। मुस्कान ने बताया प्रारंभिक परीक्षा के बाद उनका हौसला टूट गया था। मौजूद नोट्स कम लग रहे थे और तैयारी में भी कमी नजर आ रही थी। माता-पिता ने हौसला बढ़ाया और विश्वास जगाया कि वह इस मुकाम को हासिल कर सकती है। जब मुख्य परीक्षा निकट आई तो पूरा परिवार रिश्तेदारी में भी नहीं गया। इस दौरान उन्होंने करीब 20 दिन तक लगातार रोजाना 15 से 16 घंटे तक पढ़ाई की। इससे पहले वह दिन में सात-आठ घंटे तक पढ़ाई करती थीं।

परीक्षा पास करना आसान नहीं, लेकिन मुश्किल भी नहीं

मुस्कान की प्रारंभिक शिक्षा बद्दी के वीआर पब्लिक स्कूल में हुई है। उन्होंने दसवीं और जमा दो की कक्षा में 96 फीसद अंक लेकर स्कूल में टॉप किया था। मुस्कान ने स्नातक तक की पढ़ाई चंडीगढ़ के एसडी कॉलेज से की। संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा उत्तीर्ण करना आसान नहीं है, लेकिन यदि दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो कोई मुश्किल भी नहीं है। 

बेटियों के प्रति हीनभावना दूर करूंगी

मुस्कान ने कहा कि पूरे देश में बेटियां शिखर छू रही हैं। बावजूद इसके लड़कियों के प्रति लोगों के मन में हीनभावना खत्म नहीं हो रही है। मौका मिलेगा तो इस हीनभावना को खत्म करने का प्रयास जरूर करूंगी। मुस्कान ने युवाओं को संदेश दिया कि जिस लक्ष्य को आपने निर्धारित कर लिया है, उससे कभी पीछे नहीं हटो, एक दिन सफलता जरूर मिलेगी।

हरियाणा के जींद से भी नाता

मुस्कान जिंदल का हरियाणा से भी नाता रहा है। उनके दादा साधुराम जिंदल हरियाणा के जींद से बद्दी में करियाना का कारोबार करने आए थे। इसके बाद 1986 में यहीं घर खरीद लिया। परिवार बद्दी का स्थायी निवासी है। मुस्कान का जन्म भी बद्दी में हुआ है।

सीएम बोले, मुस्‍कान की उपलब्धि पर हमें गर्व

'देवभूमि हिमाचल की बेटियां किसी से कम नहीं हैं। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा उत्तीर्ण करने पर हिमाचल के बद्दी से संबंध रखने वाली बेटी मुस्कान जिंदल को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं। आपकी उपलब्धि पर हमें गर्व है।' -जयराम ठाकुर, मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस