शिमला, जागरण संवाददाता। Himachal School Vacation, हिमाचल प्रदेश के ग्रीष्मकालीन स्कूलों में 15 जुलाई से 20 अगस्त तक बरसात की छुट्टियां होंगी, जबकि शीतकालीन अवकाश वाले स्कूलों में 10 अगस्त से 10 दिन की छुट्टियां होंगी। इस दौरान स्कूलों में आनलाइन माध्यम से भी पढ़ाई नहीं होगी। शिक्षा विभाग ने इसका शेड्यूल तैयार कर मंजूरी के लिए प्रदेश सरकार को भेजा है। सरकार की मंजूरी के बाद इसे नोटिफाई किया जाएगा। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने सभी शिक्षण संस्थानों को बंद किया हुआ है। इस दौरान आनलाइन माध्यम से ही पढ़ाई हो रही है। शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार हर साल बरसात के दिनों में छुट्टियां होती हैं। इसमें कोई विवाद न हो ऐसे में छुट्टियां दी जा रही हैं।

टीजीटी शिक्षकों को पदोन्नत कर मुख्य अध्यापक बनाए सरकार

शिमला। प्रदेश विज्ञान अध्यापक संघ ने शिक्षा विभाग से टीजीटी काडर से मुख्य अध्यापक पद की पदोन्नति सूची जल्द जारी करने की मांग की है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह ठाकुर, कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुधीर चंदेल, उपाध्यक्ष जय सिंह ठाकुर, दिनेश पठानिया, सीमा चौहान, रणजीत ङ्क्षसह, प्रदेश महामंत्री अवनीश कुमार, कोषाध्यक्ष लवली कुमार, कार्यालय सचिव अशोक वालिया, मीडिया प्रभारी सुनील कुमार, देशराज राजपूत, हंसराज चौधरी, सुखजिंदर गुलेरी, राजीव राठौर, नरेश वर्मा, मोहन लाल शर्मा, सिकंदर ठाकुर, भीम सिंह ठाकुर, दीनानाथ शर्मा, गणेश नेगी, विजय शर्मा, दिनेश ठाकुर, राजेंद्र वर्मा, चंद्रकेश, महिला विंग अध्यक्षा शालू परमार ने सरकार से मांग की है कि शिक्षा विभाग में टीजीटी कैडर से मुख्याध्यापक की पदोन्नति की सूची शीघ्र जारी की जाए। सूची जारी होने से  पदोन्नति की वरिष्ठता सूची में टीजीटी अध्यापकों को सेवानिवृत्ति से पहले इसका लाभ मिलेगा।

सूची देरी से निकलने से कई अध्यापक पदोन्नति के बिना सेवानिवृत्त हो गए हैं। सरकार से मांग है कि प्रदेश में जितने भी मुख्य अध्यापक के पद रिक्त हैं, उन्हें एक साथ इस पदोन्नति लिस्ट के द्वारा भरा जाए। प्रदेशाध्यक्ष नरेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकार द्वारा सभी विभागों में अपने कार्यकाल में पदोन्नति के तोहफे दिए हैं। उसके लिए विज्ञान अध्यापक संघ प्रदेश सरकार का धन्यवाद करता है। साथ में टीजीटी से स्कूल न्यू प्रवक्ता की पदोन्नति की सूची जारी करने की भी मांग करता है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma