नीरज कुमारी, ऊना। Junk Food Craze, जंक फूड सेहत के लिए हानिकारक है, लेकिन फिर भी इसका चटपटा स्वाद एक बार लोगों को लग गया तो फिर उतरने का नाम नहीं लेता। खासकर आज की युवा पीढ़ी जंक फूड के सेवन को लेकर उत्साहित रहती है। मानों इसके बिना उनकी कोई पार्टी नहीं होती। महिलाएं तो महिलाएं, अब पुरुष भी इसका सेवन करने में पीछे नहीं हैं। पहले पुरुष जंक फूड को इतनी तवज्जो नहीं देते थे लेकिन अब पुरुषों का भी जंक फूड पहली पसंद का बन गया है। बदलते मौसम से भी फास्ट फूड की ओर लोगों का रुझान बढ़ा है। ऊना शहर की बात करें तो कारोबारी खुश नजर आ रहे हैं। यहां हर चौक-चौराहे पर खड़े चार से पांच जंक फूड विक्रेता इसे बेचकर खूब कमाई कर रहे हैैं।

इन फास्ट फूड की है मांग

जिले में ऐसी कई दुकानें हैं जो जंक फूड के लिए ही मशहूर हैं। आज कल इनमें मोमोस फेमस हैं। इसके अलावा बर्गर, नूड्ल्स, मैंचुरियन, फ्रेंच फ्राई, स्प्रिंग रोल, मसाला टिक्की की बड़ी मांग रहती है। इन फूड्स का क्रेज युवाओं में इतना बढ़ गया है कि इनके चक्कर में उन्हें अपनी सेहत का भी ध्यान नहीं रहता। चाइनीज जंक फूड को ही दोपहर के भोजन में ले रहे हैं जोकि सेहत के लिए हानिकारक है। बाकायदा इंटरनेट मीडिया पर जंक फूड को लेकर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक सूचनाएं मिलती रहती हैं लेकिन फिर भी युवा पीढ़ी इससे खाने से परहेज नहीं कर रही। विडंबना यह है कि युवाओं के साथ-साथ उम्रदराज महिलाओं को भी फास्ट फूड पहली पंसद बना रहा है जिसका ताजा उदाहरण जिले में फास्ट फूड की दुकानों में साफ देखा जा सकता है।

इन बीमारियों का हो सकते हैं शिकार

फास्ट फूड को स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें कई चीजें डाली जाती हैं। उनमें से कई सेहत के लिए हानिकारक हैं। एक ही तेल में बार-बार खाद्य पदार्थों को तलना हार्ट से संबंधित बीमारियों और कोलेस्ट्रोल के बढऩे का कारण बनता है। फास्ट फूड से पेट से संबंधित बीमारियों में अल्सर, फैटी लीवर रहना, आंतडिय़ों में सूजन, हैजा, गैस्ट्रिक अल्सर, आंत्रशोध आदि गंभीर बीमारियां इसके आदी होने पर जकड़ सकती हैं।

जंक फूड खाने वाले लोगों में पेट से संबंधित बीमारियांं पनपती हैं। दूसरा हृदय रोग और अन्य बीमारियों की चपेट मेें भी लोग आ सकते हैं। इनका सेवन ज्यादा करना सेहत के लिए हानिकारक है। घर पर अपनी देखरेख में व्यंजनों को बनाएं ताकि वे सेहत के लिए हानिकारक न हो। -डा. रमन कुमार शर्मा, सीएमओ ऊना।

Edited By: Virender Kumar