ज्वालामुखी, संवाद सहयोगी। विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री ज्वालामुखी मंदिर में आज अश्विन माह के नवरात्रों के चलते मेला प्रबंधन बैठक का आयोजन सहायक मंदिर आयुक्त एवं एसडीएम ज्वालामुखी धनवीर ठाकुर की अध्यक्षता में हुआ जिसमें निर्णय लिया गया की 7 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक चलने वाले अश्विन माह के शरद कालीन नवरात्रों के लिए बेहतर प्रबंधन व्यवस्था की जाए ताकि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हो सके।

नवरात्रों में यातायात प्रबंधन और पार्किंग व्यवस्था के लिए डीएसपी ज्वालामुखी चंद्रपाल सिंह और थाना प्रभारी जीत सिंह को जिम्मेवारी सौंपी गई मंदिर में शस्त्र तथा विस्फोटक पदार्थ ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया और नवरात्रों के दौरान धारा 144 लागू रहेगी सफाई व्यवस्था की जिम्मेवारी नगर परिषद ज्वालामुखी की रहेगी जिसके लिए नगर परिषद अध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा और कार्यकारी अधिकारी हितेश शर्मा को जिम्मेवारी सौंपी गई नवरात्रों में उनको 15 अतिरिक्त सफाई कर्मचारी मुहैया करवाए जाएंगे। भिक्षावृत्ति पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा जिसकी जिम्मेवारी पुलिस विभाग की होगी खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी संजय कुमार को नवरात्रों में बेहतर व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिम्मेवारी सौंपी गई है ताकि श्रद्धालुओं को शुद्ध भोजन खाद्य पदार्थ और फल सब्जी आदि उपलब्ध हो सके।

रेट लिस्ट आदि दुकानदारों द्वारा लगाई गई होनी चाहिए पानी व्यवस्था के लिए जल शक्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए ताकि दिन में दो बार नवरात्रों में पानी की आपूर्ति हो सके बिजली व्यवस्था के लिए विभाग के अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई मंदिर न्यास निशुल्क दवाइयां यात्रियों को उपलब्ध करवाएगा मंदिर में नारियल और ढोल नगाड़े लेकर जाने पर प्रतिबंध रहेगा मां के दरबार को फूलों और लाइटों से नई नवेली दुल्हन की तरह सजाया जाएगा नवरात्रों में 30 अतिरिक्त सफाई अस्थाई कर्मचारी भी रखे जाएंगे ताकि व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त हो सके यात्रियों को पर्ची सिस्टम से ही पूर्व की तरह मंदिरों में दर्शन करवाए जाएंगे प्रदेश सरकार द्वारा जो भी दर्शनों के लिए एस ओ पी. जारी की जाएगी उसकी अनुपालन की जाएगी नवरात्रों में 50 होमगार्ड और अतिरिक्त पुलिस बटालियन नवरात्रों में व्यवस्था सुधारने के लिए आएगी मुख्य मंदिर मार्ग पूरी तरह वाहनों के लिए बंद होगा यहां पर वाहनों के लिए आवाजाही बंद रहेगी और मंदिर मार्ग पर रेडी खड़ी वाला कोई भी नजर नहीं आएगा बाकी कार्य की समीक्षा की गई और उन्हें पूर्व की तरह ही करने की निर्देश दिए गए।

इस मौके पर मंदिर अधिकारी तहसीलदार निर्मल सिंह ठाकुर डीएसपी ज्वालामुखी चंद्रपाल सिंह थाना प्रभारी जीत सिंह ज्वालामुखी नगर परिषद के अध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा कार्यकारी अधिकारी हितेश शर्मा पर्यटन विभाग विद्युत विभाग परिवहन विभाग जल शक्ति विभाग व अन्य विभिन्न विभागों से आए अधिकारी मंदिर न्यास ज्वालामुखी के सदस्य शहर के सभी धर्मशालाओं के प्रतिनिधि गोरख डिब्बी मंदिर के प्रतिनिधि पुजारी वर्ग कर्मचारी वर्ग व अन्य कई गणमान्य लोग इस बैठक में उपस्थित रहे और सभी ने नवरात्रों में प्रशासन को पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया ताकि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर दर्शन कराए जा सकेl

बैठक में देर से पहुंचने वाले अधिकारियों पर भड़के एसडीएम

मंदिर न्यास ज्वालामुखी की बैठक 11:00 बजे मंदिर परिसर में रखी गई थी जिसकी सूचना सभी विभागों के अधिकारियों व न्यास सदस्यों को दी गई थी एसडीएम ज्वालामुखी मंदिर अधिकारी सभी समय पर पहुंच गए थे परंतु कई अधिकारियों के लेट से पहुंचने पर एसडीएम ज्वालामुखी काफी नाराज हुए और उन पर खूब भड़के उन्होंने सभी अधिकारियों को चेतावनी दी कि भविष्य में इस प्रकार की कोताही ना होने पाए जो समय बैठक के लिए निर्धारित किया गया है उसी के अनुसार सभी आएं क्योंकि सभी का समय कीमती है और बैठक की मर्यादा तभी बनी रहेगी जब सभी समय के पाबंद रहेंगे और समय की नजाकत को समझेंगे l

Edited By: Richa Rana