मनाली, जसवंत ठाकुर। Manali Snow Points, बर्फ से लदे मनाली व लाहुल स्पीति के पर्यटन स्थल सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बन गए हैं। अक्‍टूबर में ही मनाली के पर्यटन स्‍थल बर्फ से ढक गए हैं। सर्दियों में अगर आप मनाली घूमने आ रहे हैं तो मनाली के इन पर्यटन स्थलों में घूमने सहित बर्फ से बने इग्‍लू नामक घरों में रहना न भूलें। मनाली के प्रमुख पर्यटन स्थल, अधिकतर पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। बर्फ से भरे रोहतांग पास के चारों ओर पानी के झरने मंत्रमुग्ध कर रहे हैं। प्रकृति प्रेमियों और रोमांच पसंद लोगों के लिए सर्दियों में मनाली व लाहुल में घूमनें की बहुत सी जगहें है। बर्फ से ढके पहाड़, नदी घाटियां, अदभुत कैफे और शांत स्थानों का नज़ारा चारों ओर देखने को मिल रहा है।

    

हिमाचल में स्थित यह हिल स्टेशन मनाली राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के लिए छुट्टी बिताने की बेहद मशहूर जगह है। यह स्थान साहसिक खेल के शौकिनों, छुट्टी मानने वाले परिवारों व हनीमून कपल्स को अपनी ओर खींचता है।

अंजनी महादेव

यह पर्यटन स्थल मनाली से 17 किलोमीटर दूर है। सोलंगनाला तक 15 किलोमीटर का सफर वाहन में जबकि दो किमी का सफर पैदल या घुड़सवारी और माउंटेन बाइक में किया जा सकता है। सर्दियों में यहां अंजनी नाले से गिरने वाला झरना बर्फ की शिवलिंग का रूप ले लेता है और शिवरात्रि तक इसकी ऊंचाई 35 से 40 फीट तक हो जाती है। पर्यटक यहां आकर बर्फ की  शिवलिंग के आसानी से दर्शन कर सकते हैं और बर्फ का आनंद उठा सकते हैं।

सोलंगनाला

मनाली से 15 किमी दूर इस पर्यटन स्थल में वाहन से पहुंचा जा सकता है। भारी बर्फबारी के समय ही यह मार्ग बंद होता है, अन्यथा लाहुल घाटी को जोड़ने वाला यह मार्ग 12 महीने खुला रहता है। यहां पहुंचकर आप  विभिन्न साहसिक खेलों स्नो स्की स्लेज, स्नो स्कीइंग, स्नो स्कूटर, स्नो ट्यूब, माउंटेन बाइक, पैराग्लाइडिंग व घुड़वासरी जैसी साहसिक खेलों का आनंद उठा सकते हैं। यहां हर साहसिक खेल की अपनी यूनियन है। अगर आप यूनियन के द्वारा इन खेलों का आनंद लेते हैं तो आप बिचौलियों से बच सकते हैं।

फातरू

रोपवे बनने के बाद अस्तित्व में आया पर्यटन स्थल फातरू सर्दियों में सैलानियों की पहली पसंद बनता है। बर्फ से ढकी रहने वाली इन वादियों में रोपवे का सफर करना न भूलें। फातरु पहुंच कर आप बर्फ की मोटी परत पर साहसिक खेलों का आनंद के सकते हैं। यह पर्यटन स्थल हनीमून कपल्स की पहली पसन्द है। यहां नव विवाहित जोड़े घण्टों बर्फ पर अठखेलिया कर अपने टूअर को यादगार बनाती है।

अटल टनल रोहतांग का साउथ व नार्थ पोर्टल

अगर आप मनाली आए हों और देश की आधुनिक टनल नहीं देखी  तो समझो कुछ नहीं देखा। 10 हजार फीट से अधिक ऊंचाई पर बनी यह टनल 10 मिनट में पलक झपकते ही सब कुछ बदल देती है। साउथ पार्टल ब्यूटीफुल है तो नार्थ वंडरफुल है। साउथ में ब्यास नदी तो नार्थ में चन्द्रा नदी आपके स्वागत को तैयार है। यहां ताजा बर्फबारी हुई है।

सिस्सु, कोकसर व जिस्पा

अगर मनाली घूमने आए हैं और शीत मरुस्थल भूमि नहीं देखी तो टूर अधूरा रह जाएगा। अटल टनल को पार करते ही सिस्सु पर्यटन स्थल आपका स्वागत करता है। दूसरी ओर कोकसर की  वादियां आकर्षित करेगी। जिस्पा पर्यटन स्थल में भारी बर्फबारी में जाना मुश्किल है लेकिन सड़क बहाल है तो आप जिस्पा में भी बर्फ का आनंद उठा सकते हैं। यह मनाली से 130 किमी के लगभग की दूरी पर है।

रोहतांग पास

बर्फ से ढका यह दर्रा लेह राजमार्ग पर स्थित है। हालांकि अटल टनल बनने के बाद अब पर्यटकों के लिए ही दर्रा महत्वपूर्ण रह गया है लेकिन मनाली आने वाले पर्यटकों की यह पहली पसंद रहती है। अधिक बर्फबारी में यहां पहुंचना आसान नहीं है। लेकिन बर्फबारी कम होने पर यहां बर्फ के दीदार कर सकते हैं। हालांकि यह दर्रा जून से अक्टूबर माह में खुला रहता है। लेकिन इस बार अक्‍टूबर में ही बंद हो गया है। यहां ढाई से तीन फीट तक ताजा हिमपात हुआ है। समुद्रतल से इसकी ऊंचाई 3,979 मीटर है। यहां से ग्लेशियर, हिमालय की चोटियों और नदी का खूबसूरत दृश्य दिखाई देता है।

कोठी व गुलाबा

मनाली के निकटवर्ती पर्यटन स्थल कोठी व गुलाबा सर्दियों में सेलानियों की पहली पसंद रहते हैं। कोठी की दूरी मनाली से 15 किमी है जबकि उससे आगे गुलाबा मनाली से 25 किमी के लगभग है। पर्यटक यहां अनेकों बर्फ की खेलों का आनंद उठा सकते हैं।

हामटा

एड़ी परियोजना के बनने के बाद हमटा पर्यटन स्थल कुछ साल पहले ही विकसित हुआ है। मनाली आए हैं तो सर्दियों में बनने वाले बर्फ के इन घरों में रहना न भूलें। जनवरी से मार्च तक यहां खेलने के साथ साथ के बर्फ से बने इगलू नामक घरों में रह सकते हैं। मनाली से 25 किमी दूर यह पर्यटन स्थल सर्दियों में सभी सेलानियों को आकर्षित करता है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma