सोलन, विनोद कुमार। प्रदेश में अब तक शराब के ठेके 31 मार्च को नीलाम होते आए हैं, लेकिन इस वर्ष कोरोना काल में स्थिति विपरीत होगी। वर्ष 2021-22 के लिए शराब के ठेकों की नीलामी मई में होगी। सरकार द्वारा यह निर्णय लॉकडाउन के दौरान शराब कारोबारियों को राहत प्रदान करते हुए घाटे से उबारने के लिए लिया गया है। वहीं लॉकडाउन के दौरान करीब दो माह तक शराब की दुकानें बंद रहने से एक वर्ष के टेंडर का समय भी पूरा नहीं हो रहा था। सरकार के इस निर्णय से शराब कारोबारियोंमें खुशी है। अब उन्हें अतिरिक्त समय मिलने के बाद कोरोना काल में हुए घाटे से उबरने की उम्मीद जगी है।

जिला सोलन की बात करें तो आबकारी एवं कराधान विभाग द्वारा प्रतिवर्ष करोड़ों रुपये की बोली लगाकर शराब की दुकानें नीलाम की जाती हैं। शराब कारोबारियों द्वारा करोड़ों की राशि नीलामी के रूप में चुकाने के बाद लॉकडाउन में ठेके करीब दो महीने तक बंद रहे, जिससे उन्हें काफी नुकसान हो गया। इसके बाद शराब कारोबारियों को इस घाटे की भरपाई करने की चिंता सताने लगी। उन्होंने सरकार से कोरोना काल के दो महीनों में हुए घाटे से उबरने के अतिरिक्त समय देने की मांग की, जिसके बाद सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया।

जिले में पिछले साल 78 करोड़ में बिके थे ठेके

जिला सोलन में वर्ष 2020 में आबकारी एवं कराधान विभाग द्वारा शराब के 127 ठेकों की नीलामी करीब 78 करोड़ में की गई थी। जिले में शराब के 59 यूनिट हैं जिसके अंतर्गत करीब 127 शराब की दुकानें आती हैं।

2.50 करोड़ के घाटे में चल रहा है कारोबार : राजेश ठाकुर

जिला सोलन में शराब के बड़े कारोबारियों में शुमार राजेश ठाकुर का कहना है कि लॉकडाउन के समय हुए घाटे से उनका कारोबार अभी तक पटरी पर नहीं लौटा है। उनके पास 103 शराब की दुकानें हैं, जिनमें से 67 दुकानें सोलन जिले के विभिन्न स्थानों पर हैं। राजेश ठाकुर का कहना है कि लॉकडाउन के चलते उनके कारोबार को करीब 2.50 करोड़ का नुकसान पहुंचा है। दो माह का अतिरिक्त समय मिलने से उन्हें घाटे से बाहर आने की उम्मीद जगी है।

घाटे से उबरने के लिए फैसला

आयुक्त आबकारी एवं कराधान विभाग सोलन हिमांशु पंवर का कहना है लॉकडाउन के समय में दो महीनों तक शराब की दुकानें बंद रहने के बाद नीलामी प्रक्रिया मई में की जाएगी। इससे एक वर्ष के टेंडर का समय भी पूरा हो जाएगा व कारोबारियों को घाटे से उबरने का अतिरिक्त समय मिल जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप