शिमला, जागरण संवाददाता। राजधानी शिमला के उपनगर विकासनगर में स्मार्ट सिटी के तहत बनी लिफ्ट व ओवरब्रिज का काम पूरा हो चुका है। रविवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर शहर के लोगों को इसे सौंप देंगे। इसके शुरू होने के बाद क्षेत्र के हजारों लोग अब लिफ्ट में सफर कर चंद मिनट में छोटा शिमला के ब्राकहास्ट पहुंच सकेंगे। विकासनगर की जनता को अब लगभग एक से डेढ़ किलोमीटर की पैदल चढ़ाई व सीढि़यां चढ़ने से निजात मिल जाएगी। यहां स्मार्ट सिटी मिशन के तहत तीन लिफ्ट लगाई जाएंगी। पहले चरण का काम पूरा होने के बाद अब दूसरे व तीसरे चरण पर काम किया जाना है। तीन चरणों में इस प्रोजेक्ट का काम किया जाएगा। पहले चरण में विकासनगर पुलिस चौकी से पंथाघाटी राष्ट्रीय राजमार्ग तक लिफ्ट लग चुकी है। अब दूसरे चरण का काम शुरू हो गया है। रोपवे ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट कार्पोरेशन ने इसकी टेंडर प्रक्रिया पूरी कर दी है। दूसरे चरण में एक लिफ्ट और एक ओवरब्रिज का निर्माण कार्य किया जाएगा।

इससे लोग नेशनल हाईवे से आवासीय कालोनी तक पहुंच सकेंगे। इस कालोनी में संपर्क सड़क से फिर ब्राकहास्ट के लिए तीसरे चरण का काम होगा। यहां भी एक लिफ्ट ब्राकहास्ट तक लगेगी। ब्राकहास्ट के पास ओवरब्रिज बनाकर इसे छोटा शिमला कसुम्पटी सड़क से जोड़ा जाना है। इस तरह विकासनगर क्षेत्र के लोग तीन लिफ्ट और तीन ओवरब्रिज के माध्यम से सीधे ब्राकहास्ट तक पहुंचेंगे। अभी इन्हें करीब एक से डेढ़ किलोमीटर खड़ी चढ़ाई व सीढि़यां चढ़नी पड़ती हैं। ब्राकहास्ट से छोटा शिमला के लिए कोई बस सुविधा भी नहीं है जिस कारण लोगों को पैदल ही यहां से गुजरना पड़ता है। विकासनगर पुलिस चौकी से एनएच तक तैयार की गई लिफ्ट पूरी तरह तैयार है। बुजुर्गो व बच्चों को मिलेगी सबसे ज्यादा राहत विकासनगर की लिफ्ट व ओवरब्रिज के बनने से बुजुर्गो, महिलाओं और स्कूल जाने वाले बच्चों को सबसे अधिक राहत मिलेगी।

वहीं, जल्द ही स्थानीय लोगों को सीढि़यां चढ़ने और खड़ी चढ़ाई से भी राहत मिल जाएगी। सबसे ज्यादा फायदा यहां के स्कूली बच्चों को होगा। उन्हें स्कूल जाने के लिए सड़क पार करने की जरूरत नहीं है। इससे पहले सुबह-शाम यहां स्कूली बच्चों को सड़क पार करने के लिए यातायात रोकना पड़ता था। दोपहर बाद ढली टनल का भी होगा निरीक्षण शहर को ऊपरी शिमला से जोड़ने वाली सुरंग के समानांतर बनाने का काम चल रहा है। इसके दोनों छोर मिल चुके हैं। इस सुरंग को कितने समय में तैयार किया जा सकता है। इसका निरीक्षण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर दोपहर के बाद करेंगे।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट