शिमला, जागरण संवाददाता। Landslide Near CM Residence, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सरकारी आवास के पास भूस्‍खलन से चार भवनों को खतरा पैदा हो गया है। इन भवनों में रह रहे 35 लोगों को राज्य सरकार के चौड़ा मैदान स्थित सर्किट हाउस में शिफ्ट कर दिया है। मुख्यमंत्री आवास में कुछ ही महीने पहले एक गौशाला का निर्माण किया गया था। इस गौशाला के निचली तरफ बनी सड़क पूरी तरह से क्षतिग्रस्‍त हो गई है। हालांकि प्रशासन ने एहतियातन के तौर पर तुरंत हरकत में आते हुए रेस्‍क्‍यू अभियान शुरू कर दिया। किसी का जानी नुकसान न हो, इसके लिए इन भवनों में रह रहे सभी लोगों को शिफ्ट कर दिया है। हादसे की सूचना मिलने के बाद जिला प्रशासन से लेकर नगर निगम के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहा है कि सड़क के नीचे पानी काफी मात्रा में इकट्ठा हो गया था इस कारण एकदम से पूरी जमीन ही धंस गई और भवनों को खतरा पैदा हो गया।

शिमला शहर में बुधवार को भी भारी बारिश के कारण तीन मकान क्षतिग्रस्‍त हो गए थे। इसके अलावा जगह जगह भूस्‍खलन व पेड़ गिरने से भारी नुकसान हुआ था। प्रदेशभर में आज भी बारिश का दौर जारी है।

जिले में 49 सड़कें बंद, 13 पेयजल परियोजनाएं प्रभावित

जिला शिमला में दो दिन से हो रही बारिश से काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। शिमला शहर में गाडिय़ों पर पत्थर गिर रहे हैं। जिले में 10 मुख्य सहित 49 संपर्क मार्ग बंद पड़े हैं। इसके अलावा 13 पेयजल परियोजनाओं को नुकसान हुआ। जिला प्रशासन ने सभी एसडीएम को सतर्क रहने के निर्देश जारी किए है।

सैलानियों को नदियों और खड्डों के किनारे न जाने की सलाह

प्रशासन ने स्थानीय लोगों और सैलानियों से नदियों व खड्डों के किनारे न जाने की अपील की है। उपायुक्त आदित्य नेगी ने कहा कि जिले में 24 घंटों के दौरान हो रही बारिश से अब तक 10 मुख्य सड़क मार्गों सहित 49 संपर्क मार्ग बाधित हुए हैं। इन सड़कों को खोलने का काम किया जा रहा है। जिले में चार घरों को नुकसान पहुंचा है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma