मनाली, जागरण संवाददाता। Landslide In Himachal, मनाली से छह किलोमीटर दूर नेहरूकुंड के पास भारी भूस्खलन होने से मनाली-लेह मार्ग बुधवार शाम से बंद हो गया है। मनाली से लेह आने जाने वाले बड़े वाहन नेहरूकुंड और लेह से आ रहे वाहन पलचान में फंस गए हैं, जबकि छोटे वाहन बाया नेहरूकुंड बुरुआ पलचान होते  हुए आ जा रहे हैं। बीआरओ सड़क बहाली में जुट गया है। भारी भरकम चट्टानें गिरने से बीआरओ की भी दिक्कत बढ़ गई है। दोपहर बाद ही सड़क बहाल होने की उम्मीद है। नेहरूकुंड के पास रात नौ बजे भारी भरकम चट्टान सड़क पर आ गिरी। हालांकि उस समय कोई वाहन वहां से नहीं गुजर रहा था। जिस कारण कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन लेह काजा व किलाड़ जाने वाले सभी वाहन फंस गए हैं।

इस मार्ग पर तीन दिन पहले भी भारी भरकम चट्टान गिर कर सड़क में आ गई थी, जिसे घंटों की मशक्कत के बाद बीआरओ ने हटाकर सड़क को बहाल किया था। लगातार चट्टानें गिरने से नेहरूकुुंड का यह प्वाइंट जोखिमभरा हो गया है। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया चट्टान के गिरने से मार्ग बंद हो गया है। उन्होंने बताया बीआरओ सड़क बहाली में जुट गया है तथा भारी भरकम चट्टानों को हटाया जा रहा है। सड़क बहाली में समय लग सकता है। उम्मीद है दोपहर बाद सड़क बहाल कर दी जाएगी।

कुल्लू काजा बस सेवा प्रभावित, पलचान से केलंग चलाई बस

एचआरटीसी की आज शुरू होने वाली कुल्लू-काजा बस सेवा नेहरूकुंड के पास भूस्खलन होने से प्रभावित हो गई है। मनाली से केलंग जाने वाले यात्रियों की सुविधा को देखते हुए एचआरटीसी केलंग डिपो ने पलचान में बसें खड़ी की हैं। आरएम मंगल मनेपा ने बताया काजा बस सेवा प्रभावित हुई है, जबकि लाहुल आने जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए पलचान में बसों की व्यवस्था की है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma