कांगड़ा, संवाद सहयोगी। Kangra Nagar Parishad, हिमाचल प्रदेश सरकार ने स्वच्छता अभियान के तहत सफाई व्यवस्था को लेकर एक सर्वे करवाया। इसमें कांगड़ा नगर परिषद ने प्रथम स्थान हासिल किया है, जिसकी खुशी में नगर परिषद कांगड़ा कार्यालय में केक काटकर खुशी का इजहार किया तथा सफाई कर्मियों को सम्मानित किया। कांगड़ा नगर परिषद प्रदेश में पहला डस्टबिन मुक्त नगर पाया गया। सरकार द्वारा किए गए सर्वेक्षण के दौरान कई घरों में व दुकानों में जाकर सफाई व्यवस्था के बारे में गुप्त जानकारी प्राप्त की। इसके उपरांत नगर परिषद कांगड़ा को प्रथम स्थान दिया।

इस अवसर पर नगर परिषद अध्यक्षा रेनू शर्मा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा नगर परिषद ने जो प्रथम स्थान हासिल किया है, इसका श्रेय इन सफाई कर्मियों को जाता है। जिन्होंने कोरोनाकाल में भी सफाई व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया। उन्होंने कहा कि कांगड़ा एक ऐसा नगर परिषद जहां पर सबसे पहले शहर से डस्टबिन हटा कर शहर को इससे मुक्त करवाया। उन्होंने कहा कि इसके लिए सफाई कर्मियों के साथ साथ स्टाफ की सहायता द्वारा यह संभव हो सका।

इसके विपरीत नगर निगम क्षेत्रों के स्चछता को लेकर हर साल होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण की बात की जाए तो स्मार्ट सिटी एवं नगर निगम धर्मशाला की रैंकिंग में इस साल सुधार तो हुई है, लेकिन रैंकिंग में धर्मशाला शहर अभी देश के टाॅप-100 शहरों में भी अपना स्थान नहीं बना पाया है। इसका कारण यहां पर सीवरेज की व्यवस्था न होना और कूड़ा निस्‍तारण की उचित व्यवस्था का अभाव है।

नगर परिषद कांगड़ा रेनू बाला, उपाध्यक्ष राजकुमारी, पूर्व अध्यक्ष सुमन वर्मा, पार्षद अशोक शर्मा, सौरव, विद्यासागर के अतिरिक्त स्टाफ कर्मी मौजूद रहे। इस मौके पर उन्होंने इस कार्य में जुटे लगभग 30 कर्मियों को चाय पानी पिला कर उन्हें सम्मानित भी किया।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma