कांगड़ा, संवाद सहयोगी। Kangra Roads, उपमंडल कांगड़ा की विभिन्न छह सड़क निर्माण कार्यों को लेकर फारेस्ट क्लीयरेंस मिल गई है। इससे इन सड़कों का निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा। इन छह सड़कों की एफसीए क्लीयरेंस के लिए श्रेय लेने के लिए होड़ लग गई है। एक ओर कांगड़ा विधायक पवन काजल इसे अपनी उपलब्धि बता रहे हैं, वहीं दूसरी ओर जिला परिषद कांगड़ा अध्यक्ष रमेश बराड़ इसे प्रदेश सरकार की कांगड़ा के लिए विकासात्मक दृष्टि बता रहे हैं।

जिप अध्यक्ष रमेश बराड़ ने कहा हाल ही में कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र की छह सड़कों को वन विभाग की क्लीयरेंस मिली है। जिन सड़कों को वन विभाग से क्लीयरेंस मिली है, उनमें गाहलियां से पंतेहड राड बस्ती, डाका बंदल से रसूह चौंक, बिलगलू से नगाल जमेनी टल्ला, हरजिन बस्ती, फ्रीडम फाइटर सरन सिंह रोड, बोहड़ कवालू से गाड़ संध, भारथा से द्रोबियां रोड, कालका माता से कपाड़िया बाया चीलबही शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की मांग पर इन कार्यों को स्वीकृत कराने की अनुशंसा उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से की थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने इन कार्यों को स्वीकृति प्रदान की। रमेश बराड़ ने कहा कि कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र में जितने भी विकास कार्य हुए हैं और जो निर्माणाधीन है वह भाजपा सरकार की ही देन हैं। उन्होंने कहा इन सड़कों को क्लीयरेंस देने पर वन विभाग के अधिकारियों का भी धन्यावाद करते हैं। यह मंजूरी मिलने के साथ अब पीडब्ल्यूडी इन पर निर्माण कार्य शुरू करेगा।

बराड़ ने कांग्रेस विधायक पवन काजल पर निशाना साधते हुए कहा कि विधायक प्रदेश सरकार का आभार मानने के बजाय बयान जारी कर इसका श्रेय खुद को देकर झूठी वाहवाही लूटने में लगे हैं। एक तरफ विपक्ष के विधायक कहते हैं कि सरकार काम नहीं कर रही है और जब विकास कार्यों को सरकार से मंजूरी मिल रही है तो उसको लेकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कांग्रेस विधायक कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों का झूठा श्रेय ले रहे हैं, जबकि उन्हें आम जनता की सुध लेकर उनकी समस्याओं का समाधान करना चाहिए। वहीं वीरवार को पवन काजल ने कांगड़ा में जनसमस्याएं सुनते वक्त इन सड़कों की एफसीए क्लीयरेंस को लेकर अपनी पीठ थपथाते हुए श्रेय लिया था।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma