धर्मशाला, जेएनएन। कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक (केसीसीबी) सेवानिवृत्त कर्मचारी संगठन ने बैंक प्रबंधन को चेतावनी दी है कि शताब्दी वर्ष समारोह से पहले यदि पेंशनरों की पेंशन को तर्कसंगत नहीं बनाया तो वह काले बिल्ले लगाकर प्रदर्शन करेंगे। धर्मशाला संगठन की प्रधान सुमेर राणा की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद प्रबंध निदेशक से प्रतिनिधिमंडल ने भेंट कर उपरोक्त मांग को उठाया। वहीं संगठन ने बैंक के घटते लाभ व बढ़ते एनपीए को लेकर भी बैठक में चर्चा की है।

संगठन के पदाधिकारियों के मुताबिक बैंक रिजर्व फंड की आय को लाभांश में शामिल कर रहा है और इसमें से भारी भरकम आयकर दे रहा है जिसकी वजह से रिजर्व फंड की बढ़ोतरी रूक गई है। संगठन ने प्रस्ताव पारित किया है कि बैंक के जिम्मेदार अधिकारियों से अतिरिक्त व गलत जमा कराए गए आयकर की वसूली की जाए।

संगठन अध्यक्ष सुमेर राणा, महासचिव एसके गोयल व संयुक्त सचिव अश्वनी दीक्षित ने कहा कि गलत ऋण आवंटन से बैंक का एनपीए बढ़ रहा है। उन्होंने बैंक प्रबंधन से मांग उठाई है कि जब तक बैंक की आर्थिक स्थिति दुरुस्त नहीं होती है तब तक बैंक कर्मियों के भत्ते घटा दिए जाएं। संगठन ने एक साल पहले पंजीयक सहकारी सभाएं को ज्ञापन दिया था, लेकिन सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेंशन व मेडिकल भत्तों के बारे में आज दिन तक कोई निपटारा नहीं किया गया है।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस