संवाद सूत्र, ज्वालामुखी : यहां रह रहे प्रवासी मजदूरों को नगर परिषद रोजगार के अवसर प्रदान करेगी। इन सभी को एकमुश्त 120 दिन का रोजगार देने के लिए शहरी विकास मंत्रालय ने प्रदेश के तमाम नगर निकायों को अधिकृत करते हुए आदेश पारित कर दिए हैं।

इसके तहत मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना के अंतर्गत सभी स्थानीय व प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण करने के बाद रोजगार के लिए काम मुहैया करवाया जाएगा। उन लोगों को राहत मिलेगी जो नगर परिषद क्षेत्र में फंसे हुए हैं। योजना के तहत प्रवासी मजदूरों के अतिरिक्त उन स्थानीय लोगों को नगर परिषदें काम देंगी जिन्हें इसकी जरूरत होगी। कामगार नगर निकाय क्षेत्र से ही संबंधित हैं इसको सत्यापित करने के लिए स्थानीय लोगों को योजना के अंतर्गत आवेदन करने के साथ आधार कार्ड व बैंक का खाता नंबर दर्शाना जरूरी होगा। जबकि प्रवासी लोगों को जिस किसी के पास वे किरायेदार के रूप में रहते हैं उनका नाम-पता दर्शाना अनिवार्य होगा। इन दस्तावेजों को दिखाने के बाद ही आवेदकों को जॉब कार्ड देकर काम दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री आजीविका योजना के तहत परिवार के एक सदस्य को ही 120 दिन का काम मिलेगा। यदि परिवार के दो सदस्य काम चाहते हों तो उन्हें 60-60 दिन का काम नगर निकाय उपलब्ध करवाएंगे।

-------------------

सरकार के निर्देशों के अनुरूप इस महत्वाकांक्षी योजना को सिरे चढ़ाने के लिए काम शुरू कर दिया है। निकाय क्षेत्र के भीतर का कोई भी व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने के लिए जॉब कार्ड बनवा सकता है। जॉब कार्ड बन जाने के बाद 15 दिन के भीतर नगर निकाय उन्हें काम देगी।

-कंचन बाला, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद ज्वालामुखी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस