शिमला, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को सर्किट हाउस शिमला में पहुंच कर पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल से मुलाकात की। दोनों के बीच सवा पांच बजे शुरू हुई बैठक करीब सात बजे तक चली। जयराम की धूमल से लंबी मंत्रणा के कई मायने निकाले जा रहे हैं।

जयराम ठाकुर की धूमल से मुलाकात को प्रदेश में इस साल होने वाले तीन उपचुनाव व अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बाद में केंद्रीय वित्त एवं कारपोरेट मामलों के राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर से मिलने राज्य अतिथिगृह पीटरहाफ पहुंचे। यहां दोनों नेताओं में 20 मिनट तक बातचीत हुई। इससे पहले प्रेम कुमार धूमल नरेंद्र बरागटा के निधन के बाद स्वजनों से मिलने के लिए कोटखाई स्थित निवास पर गए थे। दोपहर बाद करीब चार बजे वह वहां से लौटे। अनुराग ठाकुर भी शोक व्यक्त करने के लिए नरेंद्र बरागटा के स्वजनों से मिले। मंगलवार से भाजपा कार्यसमिति की तीन दिवसीय बैठक शुरू हो रही है। इस बैठक में पार्टी के आगामी कार्यक्रम तय होंगे।

भाजपा आज से तीन दिन करेगी मंथन

हिमाचल प्रदेश भाजपा अगले एक साल में क्या करेगी। किस तरह से 2022 की तैयारी होगी और किस तरह से तीनों उपचुनाव में काम करेगी। इसका पूरा रोडमैप मंगलवार से वीरवार तक शिमला में होनी वाली बैठकों में तैयार किया जाना प्रस्तावित है। मंगलवार को होने वाली बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर सहित प्रदेश प्रभारी, सह प्रभारी के साथ केंद्रीय नेतृत्व की ओर से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष स्तर के नेता भी मौजूद रहेंगे।

बैठक में प्रदेश में होने वाले तीनों उपचुनाव पर चर्चा होगी। इसके बाद ही प्रस्ताव चुनाव कमेटी के पास भेजा जाना है। मंडी संसदीय क्षेत्र सहित फतेहपुर और जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होने हैं। ऐसे में पार्टी किन नेताओं को चुनावी समर में उतारना चाहती है, इस मसले पर भाजपा के सभी नेताओं के सुझाव लेने के बाद चुनाव कमेटी में इसका प्रस्ताव रखा जाना है। हालांकि इस पर अंतिम मुहर तो पार्टी हाइकमान ही लगाएगा।

2022 के लिए तैयार होगा प्लान

बैठकों में विधानसभा चुनाव 2022 तक का पूरा प्लान तैयार होगा। इस दौरान कैसे सरकार के कार्यों को आगे ले जाना है। किस तरह से बूथ स्तर पर पार्टी का काम पहुंचाना है। इन सभी मसलों पर विस्तार से चर्चा संभावित है। बैठकों में प्रदेश सरकार के विभिन्न बोर्ड व निगमों में तैनात नेताओं से भी फीडबैक लेकर काम किया जाना है।

Edited By: Vijay Bhushan