शिमला, राज्य ब्यूरो। Himachal Apple Fraud, सेब बागवानों के 15 लाख डकारने के आरोपित आढ़ती से बुधवार को सीआइडी ने पूछताछ की। अब उसने पैसे नहीं चुकाए तो एसआइटी गिरफ्तार कर लेगी। आरोपित कुलदीप ठियोग का रहने वाला है। वह परवाणू में हिमाचल एपल ब्रांड के नाम से आढ़त करता था। सीआइटी के पास ठियोग क्षेत्र के बागवानों ने शिकायत की । इस शिकायत के आधार पर सीआइडी ने भराड़ी थाने में हाल ही में केस दर्ज किया। अब केस की जांच चल रही है।

बागवानों ने तीन वर्ष पहले सेब बेचे थे। एसआइटी इस मामले में शिकायत करने वाले चार बागवानों, नंदलाल वर्मा, श्याम ङ्क्षसह, देवेंद्र वर्मा व सतीश वर्मा के बयान दर्ज हो गए हैं। बाकी बागवानों के भी बयान दर्ज होंगे। कुफ्टू गांव के बागवान नंदलाल वर्मा ने बताया कि उन्होंने 2018 में परमाणू में हिमाचल एपल ब्रांड आढ़त चलाने वाले ठियोग के ही आढ़ती कुलदीप को सेब बेचे थे, लेकिन कई वर्ष बीते जाने के बाद भी सेब का पैसा नहीं दिया गया है। बागवान श्याम ङ्क्षसह का कहना है कि उसके भी दो लाख नहीं चुकाए हैं।

35 से अधिक आढ़ती गिरफ्तार

अब तक सीआइडी 23 से अधिक आरोपित आढ़तियों व कारोबारियों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि 70 से अधिक मामलों में चार्जशीट कोर्ट में दाखिल हो गई है। कुल 127 मामले दर्ज हैं। इनमें से अधिकांश की जांच अंतिम चरण में पहुंच गई है। जांच एजेेंसी आरोपितों को पैसा जमा करवाने का समय देती है। कई आढ़ती प्रभावित बागवानों को पैसे की अदायगी कर देती है।

सबसे बड़े मामले में पकड़ा था आरोपित

सीआइडी ने हाल ही में सेब बागवानों से धोखाधड़ी करने का मास्टरमाइंड संदीप मेहता उर्फ सैंडी को गिरफ्तार किया था। उसकी गिरफ्तारी मुंबई से हुई थी। पुलिस रिमांड के दौरान उसने माना था कि उसने करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी की है। अब वह न्यायिक हिरासत में है।

Edited By: Neeraj Kumar Azad