सरकाघाट, संवाद सहयोगी। Dental Technician Wait for Job, प्रशिक्षित बेरोजगार डेंटल टेक्नीशियनों को न्यायालय के आदेशों के बाद भी पिछले 22 वर्ष से नौकरी सरकार नहीं दे पाई है। इसी मुद्दे पर बुधवार को हिमाचल प्रदेश बेरोजगार डेंटल टेक्नीशियन संघ की बैठक अध्यक्ष सतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कहा उन्होंने 1999 से डेंटल टेक्नीशियन का कोर्स किया था, लेकिन 22 वर्ष बीत जाने के बाद भी आज तक उन्हें नौकरी नहीं दी गई है, जबकि प्रदेश में कई डेंटल कॉलेज खुले हैं। 22 वर्षों के दौरान केवल 79 डेंटल टेक्निशियनों को ही सरकारी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करवाया गया। उन्होंने प्रदेश के उच्च न्यायालय में भी याचिका दायर की थी जिसका फैसला वर्ष 2019 में उनके पक्ष में आया था कि इन्हें भी बैच वाइज नियुक्ति दी जाए, लेकिन आज दिन तक इन आदेशों पर अमलीजामा सरकार नहीं पहना पाई है।

उन्होंने कहा कि इस महंगाई के युग में उनको अपने परिवार का लालन पालन करने में भी भारी परेशानी हो रही है। सैकड़ों डेंटल टेक्नीशियन ट्रेनिंग करने के बाद बेरोजगार घूम रहे हैं। उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि जल्द सरकार बेरोजगारों को नियुक्ति दी। बैठक में अजय कुमार, ललित कुमार, राम सिंह, अशोक कुमार, धर्मपाल, जगदीश चंद्र, रवि कुमार, मीना देवी ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व स्वास्थ्य मंत्री राजीव सहजल से आग्रह किया है कि उनकी मांगों पर जल्द पूरा किया जाए।

योग शिक्षकों ने की जल्द पद भरने की मांग

बेरोजगार योग शिक्षक संघ ने सरकार से उनको रोजगार देने की मांग की है। संघ की बैठक अध्यक्ष अनिल शर्मा की अगुआई में हुई। बैठक में कहा गया कि प्रदेश सरकार ने उच्च शिक्षा विभाग में योग शिक्षकों के 60 पद 27 अप्रैल 2017 को सृजित किए थे और उन्हें भरने की प्रक्रिया भी आरंभ कर दी गई थी परंतु अभी तक नहीं भरे गए हैं। आयुर्वेद विभाग ने  भी योग शिक्षक लगाने के लिए डेढ़ वर्ष पूर्व आवेदन मांगे थे, लेकिन आवेदन लेने के बाद अभी तक वह पद भी नहीं भरें गए हैं। अनिल शर्मा ने कहा कि बेरोजगार योग शिक्षक नौकरी की प्रदेश सरकार से आस लगाए बैठे हैं। बेरोजगार योगा शिक्षकों द्वारा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से योग में डिप्लोमा प्राप्त किया हैं। बेरोजगारो में अनिता कुमारी,  सरिता, सुनील, संतोष कुमार, अरुण कुमार, चमनलाल, ममता, कविता ने सरकारसे जल्द पद भरने की मांग की है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma