डमटाल, संवाद सूत्र। पैसे के लिए हर कोई व्यक्ति कई हद तक जाने को तैयार हो जाता है । चाहे किसी के खोए हुए पैसे ही क्यो न हो। इन सब बातों को दरकिनार कर इंदौरा होमगार्ड कंपनी के दो जवानों ने ईमानदारी की मिशाल को कायम रखते हुए किसी व्यक्ति के खोए हुए हजारों रुपये से भरे पर्स को वापस कर किया है। जिसकी ईमानदारी पर पूरे इंदौरा में खूब वाहवाही हो रही है। मुकेरिया टू पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित हिमाचल के तोकी छन्नी एक्साइज बैरियर पर तैनात सेक्शन कमांडर तरसेम सिंह व होमगार्ड बलविंदर सिंह ने बताया के आज वो सुवह अपनी ड्यूटी पर आए थे तो इस दौरान उन्हें अपने चैक पोस्ट के आस रोड में एक पर्स मिला। जिसमें हजारों रुपये व वोटर कार्ड, चालक लाइसेंस सहित कई जरूरी कागजाद थे।

लाइसेंस धारक से संपर्क करने के लिए उन्होंने पर्स में लिखे कई नंबरों पर संपर्क किया तो पर्स के मालिक से संपर्क हुआ ओर उसे बैरियर पर आकर पर्स की पहचान बताकर पर्स ले जाने के लिए बुलाया गया। बैरियर पर पर्स लेने आए पर्स के मालिक राज कुमार पुत्र मंगत राम निवासी शहर लुधियाना ने बताया की वो आज सुबह अपने ट्राले में लुधियाना से लोहे की कुल्फियां छोड़ने के लिए कंदरोडी सहित सूद सरिया फेक्ट्री में आया था और छन्नी बेली के पास किसी काम के लिए ट्राले से उतरा ओर जब वो फेक्ट्री में सामान को अनलोड करवाने लगा तो उसने देखा की जेब मे उसका हजारो रुपये से भरा पर्स नहीं था।

पर्स को काफी तलाश किया पर कही नहीं मिला। इस दौरान मुझे फोन के माध्यम से सूचित किया गया की तोकी बैरियर से अपना पर्स ले जाए। पर्स के मालिक ने दोनों होमगार्ड के जवानों की ईमानदारी की सराहना की ओर कहा कि आज कल दस रुपये पर आदमी की नियत खराब हो जाती है पर हिमाचल प्रदेश के होमगार्ड के जवानों ने मेरे हजारों रुपये से भरे पर्स ओर पर्स में रखे अति जरूरी कागजाद को मुझे लौटाकर ईमानदारी की मिसाल को कायम रखा है।

Edited By: Richa Rana