शिमला/धर्मशाला, जेएनएन। Himachal Weather Update, हिमाचल प्रदेश में आज कुछ स्‍थानों पर बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने सोमवार को एक दो स्थानों पर वर्षा की संभावना जताई है, जबकि अधिकतर स्थानों पर मौसम साफ रहेगा। प्रदेश में न्यूनतम तापमान में भी हल्की वृद्धि दर्ज की गई है।  प्रदेश में भूस्खलन से दो मकानों को नुकसान पहुंचा व पांच सड़कों पर यातायात बंद बंद है। बिलासपुर और मंडी में एक-एक मकान को नुकसान पहुंचा है। जबकि कुल्लू व मंडी में दो-दो सड़कें और शिमला में एक सड़क बंद है। प्रदेश में धूप के खिलने और बादल छाए रहने के बावजूद अधिकतम तापमान में करीब एक डिग्री सेल्सियस की वृद्धि हुई है।

प्रदेश के अधिकतर इलाकों में धूप खिले रहने से दिन में लोगों को फ‍िर से गर्मी का अहसास होने लगा है। बीते दिनों हुई लगातार बारिश व बर्फबारी के कारण मौसम सुहावना हो गया था। हालांकि रात को मौसम ठंडा हो गया है।

प्रदेश में कहां कितना तापमान

  • स्थान, न्यूनतम, अधिकतम
  • शिमला, 15.4, 25.5
  • सुंदरगनर, 17.5, 30.8
  • भुंतर, 17.2, 31.2
  • कल्पा, 9.4, 21.0
  • केलंग, 8.1, 21.5
  • धर्मशाला, 17.2, 26.8
  • नाहन, 21.5, 29.8
  • ऊना, 22.0, 34.2
  • सोलन, 15.7, 29.3

चट्टानें गिरने से तीन घंटे बंद रहा राष्ट्रीय राजमार्ग

रिकांगपिओ। जिला किन्नौर के चौरा के समीप एक बार फिर राष्ट्रीय राजमार्ग पर चट्टानें गिरने से राष्ट्रीय राजमार्ग तीन घंटे तक बाधित रहा। इससे सड़क पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। रविवार सुबह साढ़े 11 बजे के करीब यहां पर चट्टानें गिरीं। इससे यहां पर लोगों को परेशान होना पड़ा। एनएच-5 के कनिष्ठ अभियंता मोहन नेगी ने टीम के साथ बाधित मार्ग को ढाई बजे बहाल करवा दिया। इससे पहले 14 सितंबर की रात को उक्त स्थान से मात्र 100 मीटर की दूरी पर भारी-भरकम चट्टान के दरकने से एनएच-5 चार दिन तक बाधित रहा था। इससे लोगों को काफी परेशान होना पड़ा था। किन्नौर जिले में पहाड़ी से चट्टानों के गिरने का सिलसिला जारी है, जिससे बागवानों की चिंता बढ़ गई है। इन दिनों जिले में सेब सीजन भी चरम पर चल रहा है। एनएच-5 के एसडीओ आनंद शर्मा ने बताया कि चौरा के समीप पहाड़ी के दरकने से मार्ग बाधित हुआ था जिसे एनएच प्राधिकरण द्वारा बहाल कर दिया गया है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma