शिमला, जेएनएन। राज्यपाल बदसुलूकी मामले के बाद निलंबित नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री द्वारा पूछे 11 सवाल विधानसभा के प्रश्नकाल से हटा दिए गए हैं। इस तरह की कार्रवाई कांग्रेस के निलंबित अन्य चारों विधायकों पर भी हुई है। यह जानकारी विधानसभा सचिवालय की बेवसाइट पर दी गई है। विधानसभा से निलंबित कोई भी सदस्य प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से सदन की कार्यवाही में हिस्सा नहीं ले सकता है। न ही प्रश्न पूछने के लिए किसी दूसरे सहयोगी सदस्य को अधिकृत कर सकता है। सोमवार को प्रश्नकाल के दौरान 57 प्रश्न प्रस्तावित किए गए हैं। 22 प्रश्न लिखित उत्तर के लिए प्रस्तावित किए गए हैं।

परिवहन व पर्यटन निगम के कर्मियों का वेतन-पेंशन अनुपूरक बजट में

कोरोना लॉकडाउन के दौरान परिवहन निगम कर्मियों को वेतन-पेंशन का अतिरिक्त भुगतान करना पड़ा। इसी तरह से राज्य में पर्यटन गतिविधियां ठप होने से पर्यटन विकास निगम के कर्मचारियों पर वेतन का संकट आ गया था। ऐसे में सरकार ने परिवहन निगम को कुल 529 करोड़ रुपये दिए। पर्यटन निगम को वेतन भुगतान करने के लिए पहले 20 करोड़ और उसके बाद भी 5 से 10 करोड़ का प्रविधान किया था। कोरोनाकाल के दौरान करीब 2000 करोड़ रुपये का अनापेक्षित खर्च हुआ था। इस प्रकार के खर्च को बजट का हिस्सा बनाने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर विधानसभा में पेश करेंगे और पारित किया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप