काजा, जागरण संवाददाता। Manerang Peak Lahaul Spiti, भारतीय सेना के डोगरा स्काउट के जवान लाहुल स्पीति की 21000 फीट ऊंची (6593 मीटर) पर्वत चोटी मानेरंग एक्सपीडशन के लिए सोमवार को समदो से रवाना हुए। 18 सदस्यीय डोगरा स्काउट का दल 30 जुलाई को वापस समदो पहुंचेगा। इस दल में दो आफिसर, दो जेसीओ और 14 अन्य रैंक के अधिकारी शामिल हैं। मानेरंग पर्वत का ट्रैक काफी चुनौती भरा है, इससे पहले भी डोगरा स्काउट का दल मानेरंग पर्वत का ट्रैक पास कर चुका है। दल को कमांडर ट्राई पींक्स ब्रिगेड ने हरी झंडी देकर रवाना किया।

इस मौके पर उन्होंने दल के सदस्यों का हौसला बढ़ाया। उन्होंने पर्वतारोहियों को संदेश देते हुए कहा जो भी इन खूबसूरत चोटियों को फतह करने जाते हैं वे पर्वतारोही स्वच्छता का ध्यान रखें। अपने साथ ले गए पानी की बोतलें व खाद्य सामग्री के रैपर इत्यादि कचरे को अपने साथ वापस लाएं, ताकि पहाड़ों की सुंदरता बनी रहे। इस अवसर पर डोगरा स्काउट के आला अफसर मौजूद रहे।

ढाई दशक पूर्व 1993 में एवरेस्ट फतह कर चुकी आठ भारतीय महिलाओं ने भी अगस्त 2018 में इस पर्वतीय शिखर को फतह किया था। एवरेस्ट अभियान के 25 साल पूरा होने के मौके पर महिला पर्वतारोहियों ने स्पीति की 21630 फीट उंची मानेरंग चोटी को फतेह किया था। महिलाओं के इस दल में एवरेस्ट फतह करने वाली मनाली की दीपू शर्मा, डिक्की डोलमा, राधा देवी भी शामिल थी।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma