धर्मशाला, जेएनएन। कुलदीप राठौर भाजपा में चली गुटबाजी के बीच पच्छाद से आजाद उम्मीदवार दयाल प्यारी की तारीफ भी कर गए। बकौल राठौर, दयाल प्यारी भाजपा की सशक्त उम्मीदवार थी, लेकिन उसे टिकट नहीं दिया गया। हालांकि राठौर ने दयाल प्यारी को सशक्त उम्मीदवार बताया, लेकिन उनका यह सार्वजनिक बयान उपचुनाव के लिए किसी बड़े राजनीतिक घटनाक्रम से कहीं कम नहीं है।

ये भी रहे सवाल

राठौर से कुछ सवाल सुधीर को लेकर रहे। प्रश्न यह रहा कि सुधीर कैसे हैं? वह कहां हैं? क्या किसी से उनकी बात हुई ? और वह कब उपचुनाव में सामने आएंगे?  इन सवालों में सिर्फ एक जवाब ही था कि वह जल्द उपचुनाव के रण में शामिल होंगे। सवाल भी यह भी उठा कि जब पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को देखने के लिए कांग्रेस के लोग जा सकते हैं तो सुधीर के बारे में उनके पास कोई जानकारी क्यों नहीं है?

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप