चंबा, धर्मशाला, जेएनएन। Himachal Cloudburst, हिमाचल प्रदेश में मौसम अपना रौद्र रूप दिखा रहा है। जिला चंबा के चुराह उपमंडल के भराड़ा में बादल फटने से आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। भारी मात्रा में मलबा सड़क पर आ गया, जिससे सड़क किनारे खड़ी गाडिय़ां भी मलबे में दब गई। सड़क किनारे पार्क किए गए दोपहिया वाहनों के अलावा छोटी गाडिय़ां भी पूरी तरह से मलबे की चपेट में आ गईं। वहीं एक बस का पिछला हिस्सा भी मलबे में दब गया। हालांकि इस दौरान किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन बाढ़ के कारण किसानों की फसलों को क्षति पहुंची है, उधर पंचायत प्रधान हीरालाल का कहना है कि भराड़ा पंचायत में बाढ़ आने से मलबा सड़क पर आ गया, जिससे भारी नुकसान हुआ है। वहां पर खड़े किए गए वाहन मलबे की चपेट में आ गए। बताया जा रहा है करीब 15 से 20 दोपहिया, आठ से दस छोटे वाहन और एक बस मलबे की चपेट में आ गई।

मौसम विभाग ने आज भी प्रदेश में भारी बारिश की संभावना जताई है। इसके अलावा बुधवार व वीरवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। हिमाचल में अब तक मानसून काफी नुकसानदायी साबित हुआ है। जिला कांगड़ा के शाहपुर में रुलेहड़ में भूस्‍खलन से काफी जानी नुकसान हुआ। इसके अलावा मांझी और गज खड्डों में आई बाढ़ ने शिला से लेकर चैतड़ू और राजाेल में तबाही मचाई है। जिसके निशान अभी तक बिल्‍कुल हरे हैं।

किन्‍नौर में हुए हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई। लाहुल में बादल फटने से 12 लोग लापता हो गए। कुल्‍लू की पार्वती नदी के सहायक नाला ब्रह्मगंगा में आई बाढ़ में चार लोग बह गए, जिनका कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma