शिमला/धर्मशाला, जेएनएन। हिमाचल भाजपा में घमासान लेकर आए पत्र बम पर पहली बार स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री विपिन परमार ने प्रतिक्रिया दी। परमारने कहा यह ओछी राजनीति है और सोची-समझी साजिश और मन गढ़ंत आरोप हैं। कुछ बोलने वाले पुख्ता सुबूत देते तो होता। जहां से यह लेटर जारी हुआ है, उसका जल्द पता चलेगा और कार्रवाई होगी। मामले में एफआइआर हुई है जल्‍द ही सब सामने आएगा। परमार ने कहा पत्र बम की सच्‍चाई सामने आते ही सिविल और क्रिमिनल दोनों केस दर्ज करवाए जाएंगे।

क्‍या है लेटर बम में

लेटर में कांगड़ा में भाजपा के वरिष्‍ठ नेता वरिष्ठ नेता शांता कुमार का भी जिक्र है। वायरल पत्र में शांता कुमार को संबोधित करते हुए लिखा गया है कि अमूमन भ्रष्टाचार और अन्याय के ख़िलाफ़ अपनी आवाज़ बुलंद करने वाले शांता कुमार हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में पनप रहे भ्रष्टाचार को देखकर चुपचाप क्यों बैठे हैं? क्या इसलिए कि ये विभाग उनके शिष्य के पास है। इसमें सीएम समेत एक अन्‍य मंत्री को भी लपेटे में लिया गया है। इसके बाद सोशल मीडिया पर लेटर वायरल करने वाले एक कार्यकर्ता और उसे फारवर्ड करने वाले पूर्व मंत्री के खिलाफ जांच चल रही है।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस