धर्मशाला/पद्वर, जेएनएन। हिमाचल प्रेदश में वीरवार सुबह धूप खिली रही व दोपहर बाद अचानक बादल छाने लगे। दो बजे के बाद प्रदेश की चोटियों पर हिमपात शुरू हो गया। वहीं, जिला कांगड़ा के छोटा भंगाल और बरोट क्षेत्र समेत जिला मंडी के कुछ इलाकों में भारी आेलावृष्टि हुई। क्षेत्र में दोपहर करीब दो बजे अचानक आसमान में गरजना के साथ बारिश का दौर शुरू हो गया। वहीं पंद्रह मिनट के बाद भारी ओलावृष्टि ने तबाही मचा दी। भारी ओले गिरने से किसानों की धान की फसल समेत सब्जियाें को भारी नुकसान हुआ है। जमीन में सफेद चादर बिछ गई।

किसानों के मुताबिक आजकल चौहारघाटी में मटर, हरा धनिया और गोभी का सीजन जोरों पर है। लेकिन अचानक भारी ओलावृष्टि होने से नगदी फसलों का खासा नुकसान फिर से किसानों को हुआ है। किसान रामदयाल, भूप सिंह, बिछु राम, चमेल सिंह, पराकम सिंह, रणजीत सिंह, भागमल, रमेश चंद, दुनी चंद, हंस राज, रोशन लाल, ओम प्रकाश, राम सिंह, ओम चंद, केसर सिंह, श्याम सिंह और नरेश कुमार सहित अन्यों ने बताया करीब तीन सप्ताह पहले हुई ओलावृष्टि ने किसानों की नगदी फसलों को खासा नुकसान पहुंचाया था। वहीं रही सही कसर वीरवार को फिर से हुई ओलावृष्टि ने पूरी कर दी।

किसानों के मुताबिक हर बार प्राकृतिक आपदा के चलते उन्हें नुकसान झेलना पड़ रहा है। इस बार मटर की बिजाई के लिए किसानों ने हाइब्रिड किस्म का महंगा बीज खरीद कर खेती की थी। लेकिन बंपर फसल होने के बावजूद किसानों के हाथ खाली हैं। प्रभावित किसानों ने प्रदेश सरकार व उपमंडल प्रशासन से आर्थिक मुआवजे की गुहार लगाई है। पधर उपमंडल के निचले क्षेत्रों में आजकल धान की फसल पक कर तैयार हो रही है।

वहीं घास कटाई के काम ने भी रफ्तार पकड़ी है। लेकिन मौसम के अचानक करवट बदलने से किसान चिंता में हैं। बरोट पंचायत की प्रधान रंजना देवी, लपास की प्रधान शांता देवी, वरधाण पंचायत प्रधान गंगी देवी सहित छोटा बंगाल क्षेत्र के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश सरकार से किसानों की फसलों का हुए नुकसान को लेकर उचित मुआवजा प्रदान करने की गुहार लगाई है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की टीम ने वीरवार को प्रदेश के ऊंचे क्षेत्रों के कुछ स्थानों पर बर्फबारी और मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में एक दो स्थानों पर बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने 22 अक्टूबर तक प्रदेश के अधिकतर क्षेत्रों में मौसम साफ रहने की संभावना जताई है।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप