ऊना, जेएनएन। लग्जरी बसों को सुहावने सफर के लिए नहीं बल्कि लग्जरी आइटमों को टैक्स चोरी करके हिमाचल में पहुंचाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसी कई निजी कंपनी की लग्जरी बसें लंबे रूटों पर चल रही हैं। हैरानी की बात तो यह है कि अब ऐसी कई बसें टैक्स चोरी के सामान को लेकर वैकल्पिक संपर्क मार्गों से होकर हिमाचल में दाखिल हो रही हैं। पिछले तीन दिन से निजी कंपनी की कुछ बसें दिल्ली से कांगड़ा और धर्मशाला के रूटों पर चल रही थीं, उनसे भारी मात्रा में टैक्स चोरी का सामान मिला था।

अब दो दिन से ऐसी कई बसों ने आबकारी एवं कराधान विभाग को चकमा देने के लिए वैकल्पिक मार्गों से हिमाचल में प्रवेश करने लगी हैं। कई बसों को नंगल के समीप से वैकल्पिक मार्गों से हिमाचल की सीमा में दाखिल कराया जा रहा है। ये बसें अब नंगल से संतोषगढ़ अथवा दूसरे संपर्क मार्गों से होकर आगे निकल रही हैं। बताया जा रहा है कि ऐसी निजी कंपनी की लग्जरी बसों के मालिक त्योहारों  के सीजन में रोजाना हजारों की आमदनी महज इस धंधे से करने लगे हैं।

एक व्यापारी ने खुलासा किया है कि वे किसी निजी कंपनी की लग्जरी बस के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक्स का सामान मंगवा रहे हैं। ये बसें ऐसा सामान लेकर रात को पहुंचती हैं और कुछ सामान नंगल के समीप उतार दिया जाता है। वहां से छोटे वाहनों के माध्यम से वैकल्पिक मार्गों से यह सामान गंतव्य तक पहुंचाया जाता है। कुछ व्यापारियों का सामान जो छोटे बाक्स में होता है उसे ऊना शहर के एक पेट्रोल पंप के समीप उतारा जाता है।

त्योहारों के सीजन में निजी कंपनी की लग्जरी बसों में भारी मात्रा में ऐसे इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल आइटमों की सरेआम ढुलाई हो रही है।

इतना ही नहीं ऐसी बसों में हरियाणा के करनाल के समीप से हलवाइयों द्वारा मावा की सप्लाई भी मंगवाई जा रही है। यह खेप अब रोजाना पहुंचने लगी है। इसके लिए भी नंगल में एक खेप को उतारा जा रहा है और ऐसा मावा कांगड़ा तक भी पहुंच रहा है। आबकारी एवं कराधान विभाग को जब इसकी भनक लगी तो ऐसी कई बसों से लाखों का टैक्स चोरी का सामान महज दो दिन में ही पकड़ में आ गया। इसके बाद विभाग की सख्ती को देखते हुए निजी लग्जरी बसों के चालकों ने अपने रूट ही बदल डाले हैं। जानकारी के मुताबिक पिछले दो दिन से करीब छह ऐसी बसें निर्धारित रूट से होकर नहीं बल्कि वैकल्पिक मार्गों से होकर हिमाचल में पहुंची हैं।

निजी कंपनी की लग्जरी बसों से टैक्स चोरी का सामान बरामद किया गया था। अब ऐसी बसें मुख्य मार्ग से न आकर वैकल्पिक मार्गों से गुजर रही हैं। विभाग पूरी तरह से सतर्क है और टैक्स चोरी का सामान लेकर हिमाचल पहुंच रहे वाहनों से टैक्स चोरी के सामान को जब्त करने का सिलसिला जारी रहेगा। -प्रदीप ठाकुर, अधिकारी आबकारी एवं कराधान विभाग।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप