धर्मशाला, जागरण संवाददाता। गगल व आसपास के लोगों ने हवाई अड्डे के विस्तारीकरण पर स्थिति स्पष्ट करने की उपायुक्त से गुहार लगाई है। भाजपा के प्रदेश सचिव वीरेंद्र चौधरी के नेतृत्व में उपायुक्त से मिले गगल क्षेत्र के लोगों ने कहा कि कुछ समय हवाई अड्डे के विस्तारीकरण की कवायद चली हुई है। ऐसे में गगल ही नहीं आसपास के कई गांवों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। किसी को पता नहीं है कि हवाई अड्डे का कितना विस्तार होगा और किसे कितना मुआवजा मिलेगा। इससे लोगों में डर का माहौल बना हुआ है।

लोगों ने उपायुक्त से कहा कि अफवाह फैलाई जा रही है कि विस्तारीकरण मांझी खड्ड तक ही होगा। कुछ कह रहे हैं कि हवाई पट्टी खड्ड से आगे तक जाएगी। लोगों ने मांग उठाई है कि एयरपोर्ट का विस्तार बिलकुल भी न हो, क्योंकि वह न तो घर बनवा रहे हैं और कारोबार करने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। अगर किसी सुरक्षा या अन्य कारणों से विस्तार को रोका नहीं जा सकता है तो भी इसकी वस्तुस्थिति के बारे में स्पष्ट बताया जाए। अन्य जगह भी हवाई पट्टी का निर्माण किया जा सकता है। उस स्थिति में लोगों का कम नुकसान होगा।

हवाई अड्डा विस्‍तार की जद में सैकड़ों परिवार आ रहे हैं। इस कारण लोग सहमे हुए हैं, लोगों को आशियाना उजड़ने का डर सता रहा है। लोग चाहते हैं कि सरकार व प्रशासन जल्‍द से जल्‍द स्थिति स्‍पष्‍ट कर दें, ताकि वे अपने भविष्‍य के बारे में सोच सकें।

यह रखी मांगें

  • हवाई अड्डे के विस्तारीकरण की स्थिति में मुआवजा अतिशीघ्र और एकमुश्त मिले।
  • मुआवजे की रकम बाजार मूल्य से चार गुणा ज्यादा मिले।
  • जिन लोगों का विस्थापन होगा उन्हें किसी अन्य जगह जमीन देने का प्रावधान किया जाए।
  • जो व्यक्ति कारोबार कर रहे हैं उन्हें व्यापार करने लायक जमीन दी जाए।
  • विस्थापित होने वाले घर से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाए।
  • यदि किसी ने शामलात भूमि पर निर्माण किया हो, उन्हें भी मुआवजा दिया जाए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस