पंचरुखी, जेएनएन। गेहूं की कटाई का सीजन पूरे यौवन पर हैं। ऐसे में थ्रै¨शग करने वाले चालक किसानों से मनमाने दाम वसूल रहे हैं। बता दें यहां गेहूं की थ्रैशिंग के लिए 12 सौ रुपये प्रति घंटे के हिसाब से पैसे वसूल किए जा रहे हैं, जिसको लेकर किसानों ने आपत्ति जताई है। शुक्रवार को क्षेत्र के किसानों ने स्थानीय प्रशासन के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा है। इस दौरान किसानों ने मांग की है कि थ्रैशिंग के दाम निर्धारित किया जाए, जिससे किसानों को राहत मिल सकें।

किसानों का कहना है कि सरकार को थ्रैशिंग के लिए प्रति घंटे के हिसाब से दाम तय करने चाहिए, ताकि उन्हें लूटने से बचाया जा सके। किसानों ने कहा कि वह पहले ही ओलावृष्टि ओर बारिश की मार से नुकसान झेल चुके हैं। रही सही कसर अब अब थ्रैशिंग चालक पूरी कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि अब जब थोड़ी-बहुत फसल बची है तो उसके मन माफिक दाम वसूले जा रहे हैं। उधर, पंचरुखी किसान इकाई के नेता मनजीत डोगरा के साथ किसान रमेश कुमार, विनोद वालिया, ऊधो राम, कुशल, तिलक, राजू, जगदीश सहित किसानों ने पंचरुखी तहसील में कर्मचारी कमल ठाकुर के माध्यम से तहसीलदार पंचरुखी को ज्ञापन सौंप उन्हें इस लूट से बचाने की गुहार लाई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप