टांडा, जेएनएन। गर्मी के मौसम में आग को बुझाने के दावे तो विभाग करता है, लेकिन शनिवार को डॉ.राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा के शव गृह के पास लगी आग ने इन दावों की पोल खोल दी। आग को बुझाने के लिए कांगड़ा से अग्निशमन विभाग की टीम तो मौके पर पहुंची लेकिन वहां मौजूद सारे हाइड्रेंट ही सूखे निकले। ऐसे में अग्निशमन विभाग की टीम ने इमरजेंसी वार्ड के अंदर लगे हाइड्रेंट के सहारे गाडिय़ों को भरकर आग पर काबू पाया गया।

दोपहर के वक्त शव गृह के साथ स्थित झाडिय़ों में आग लग गई। झाडिय़ां सूखी होने के कारण यह आग शव गृह की और बढऩे लगी। इसे देख प्रशासन ने अग्निशमन विभाग की टीम को सूचित किया। विभाग की टीम अपनी एक गाड़ी के साथ मौके पर पहुंच गई। गाड़ी में पानी कम था, लेकिन टीएमसी में हाइड्रेंट होने के कारण अग्निशमन विभाग की टीम ने पानी नहीं भरा। जब टीम घटनास्थल पर पहुंची तो वहां पर लगे फायर हाइड्रेंट से गाड़ी को भरने के लिए हाइड्रेंट को खोला लेकिन वह सूखा निकला।

इसके साथ एक के बाद एक आस पास के अन्य हाइड्रेंट भी सूखे ही निकले। आग पर काबू पाने के लिए अग्निमशन विभाग की टीम को इमरजेंसी के अंदर लगे हाइड्रेंट से पाइप लगाकर आग को बुझाया गया। वहीं इस घटना में टीएमसी प्रशासन सहित हाइड्रेंट की व्यवस्था देख रहे आइपीएच विभाग की भी पोल खोल दी। वहीं, अग्‍िनशमन विभाग के फायरमैन रविंद्र कुमार का कहना है जितना गाड़ी में पानी था उससे आग नहीं बुझी, ऐसे में टांडा अस्‍पताल परिसर के हाइड्रेंट खोले गए तो वह सूखे निकले।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस