फतेहपुर, बलबिंद्र चंबियाल। जिला कांगड़ा के फतेहपुर उपमंडल की स्थाना पंचायत के एक परिवार के कुल का दीपक स्वजनों से मिलने के 48 घंटे बाद बुझ गया। सैनिक दीपक कालिया सोमवार सुबह पठानकोट में परेड के दौरान अचानक गिर पड़े। साथी उन्हें सैन्य अस्पताल ले गए, जहां मृत घोषित कर दिया। हालांकि शनिवार को दीपक कालिया स्वजनों से मिलने के लिए घर आए थे और शाम को ड्यूटी के लिए रवाना हो गए थे।

न तो दीपक की मां राजकुमारी यह जानती थी कि उनकी गोद सूनी हो जाएगी और न ही पत्नी सीमा देवी को यह आभास था कि कुछ घंटों बाद ही उसके माथे का सिंदूर उजड़ जाएगा।  हालांकि परिवार अभी लोहड़ी उत्सव की खुशियां मना रहा था कि यह दुखद सूचना मिल गई। जवान की मौत की सूचना के बाद स्थाना गांव में शोक की लहर है। दीपक के परिवार में मां-पत्नी के अलावा बड़ा भाई संजय कुमार व उसके बच्चे हैं। जैसे ही स्थाना में दीपक की पार्थिव देह पहुंची तो हर आंख नम हो गई।

परेड के दौरान हृदयाघात से हुई मौत

सैन्य क्षेत्र मामून कैंट में परेड के दौरान हार्ट अटैक से कांगड़ा निवासी जवान की मौत हो गई। मृत जवान की पहचान कस्बा स्थाना निवासी हवलदार दीपक कालिया के रूप में हुई। दीपक कालिया मामून कैंट में सेना के विंग 19 पंजाब में बतौर हवलदार तैनात थे। थाना मामून के सब-इंस्पेक्टर सतवीर सिंह ने बताया कि सोमवार को परेड के दौरान दीपक कालिया को हार्ट अटैक आया था। उन्हें तुरंत आर्मी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। दो दिन पहले ही दीपक स्वजनों से मिलकर यूनिट लौट थे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस