नूरपुर, संवाद सहयोगी। Excise Team Action, कोरोना काल में देश समेत पूरा हिमाचल प्रदेश आर्थिक मंदी की मार झेल रहा है। प्रदेश के आय के अधिकतर साधन बंद हो चुके हैं। आर्थिक मंदी के इस दौर में सरकार की सहायता करने एवं कोरोना से लड़ने के सहयाेग करने की बजाय कुछ लोग कालाबाजारी में जुटे हुए हैं। सरकार को नुकसान पहुंचाने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ आबकारी कराधान विभाग सख्त हो गया है। कंडवाल बैरियर पर ईंटों की कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कसते हुए विभाग की टीम ने 77 हजार रुपये मौके पर जुर्माना वसूला व 13 मामले दर्ज किए।

सहायक आयुक्त राज्य कर एवं आबकारी विभाग विनोद कुमार ने बताया कि विभाग की टीम ने बिना बिल व कम बिलों के आधार पर ईंटों का कारोबार करने वालों पर विभिन्न अधिनियमों के तहत 77 हजार रुपये जुर्माना वसूला। इसके अलावा 13 मामले दर्ज किए गए। इनमें कई लोग ऐसे थे, जिन्होंने ईंट भट्टों से कम रेट में ईंटें उठाईं थी। इसके अलावा कई लोग ऐसे थे, जिन्होंने भरवाया तो पूरा ट्रक था, लेकिन बिल कम था।

ऐसा करने से ईंट भट्ठा संचालकों को निजी लाभ होगा। कम बिल देने पर संचालकों को टैक्स भी कम भरना पड़ता है एवं उन्हें टैक्स से राहत मिल जाती है। उन्होंने बताया विभाग का टैक्स चोरी के खिलाफ यह अभियान आगे भी जारी रहेगा व टैक्स चोरी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। इस मौके पर विभाग के अन्य अधिकारी परमिंदर सिंह भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: Himachal Weather Update: आज से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, छह जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में 50 फीसद आक्युपेंसी के साथ सात जून के बाद बहाल हो सकती है परिवहन सेवा

यह भी पढ़ें: मुख्‍यमंत्री ने अधिकारियों को दी चेतावनी, घोषणाओं को गंभीरता से लेें, ठेकेदारों के खिलाफ भी होगी कार्रवाई

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कोरोना कर्फ्यू के दौरान दस हजार लोगों ने तोड़े नियम, अनलाक में भी मास्‍क रहेगा जरूरी

 

Edited By: Rajesh Kumar Sharma