पालमपुर, जेएनएन। देशभर के पूर्व कर्मचारी महासंघ पालमपुर में दो दिन तक समस्याओं को लेकर मंथन करेंगे। प्रदेश पूर्व कर्मचारी प्रकोष्ठ की ओर से 28 व 29 दिसंबर को प्रस्तावित राष्ट्रस्तरीय अधिवेशन में केंद्र व प्रदेश के राजनीतिज्ञ भाग लेंगे। अधिवेशन में 22 राज्यों के कर्मचारी संगठन भाग ले रहे हैं। पूर्व कर्मचारी महासंघ के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि अधिवेशन दो चरणों में होगा।

प्रथम चरण में 28 दिसंबर को राष्ट्रीय पदाधिकारियों का सम्मेलन डाढ़ में होगा। इसमें स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार, विधायक अरुण मेहरा व विशाल नैहरिया भी शामिल रहेंगे जबकि 29 दिसंबर को कृषि विश्वविद्यालय में होने वाले सम्मेलन में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बतौर मुख्य अतिथि व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर विशेष अतिथि होंगे। इस दौरान सांसद किशन कपूर, रामस्वरूप शर्मा व मंत्री व विधायक उपस्थित रहेंगे।

सम्मेलन में मुख्य तौर पर वर्ष 2012 में तत्कालीन भाजपा सरकार की ओर से पूर्व कर्मचारियों के लिए गठित पेंशन कल्याण बोर्ड के गठन की मांग रहेगी। उन्होंने बताया कि धूमल सरकार में गठित पेंशन कल्याण बोर्ड के बाद दो वर्षों में बोर्ड का गठन नहीं हो पाया है। इसी तर्ज पर सभी राज्यों में भी पेंशन कल्याण बोर्ड गठन की मांग उठ रही है।

अधिवेशन में 65, 70 व 75 वर्ष आयुवर्ग में मिलने वाले 5, 10 व 15 प्रतिशत भत्ते को मूल पेंशन में समायोजित करना, कैशलेस मेडिकल भत्ता, परिवहन निगम कर्मचारियों को स्थायी पेंशन नीति बनाने की मांग उठाई जाएगी। इस मौके पर महासंघ सदस्य एसएस मंढोत्रा, ब्रह्मा नंद, कृपाल ङ्क्षसह व गोकुल कपूर मौजूद रहे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस