धर्मशाला, जागरण संवाददाता। बजट सत्र में प्रदेश सरकार विभिन्न विभागों में तैनात कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता के लाभ देने की घोषणा करे। यह मांग हिमाचल अनुबंध नियमित कर्मचारी संगठन ने प्रदेश सरकार से की है। प्रदेशाध्यक्ष मुनीष गर्ग, महासचिव अनिल सेन, संरक्षक राजेश जयसिंहपुरिया, सलाहकार राजेश वर्मा, वित्त सचिव विजय शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता संजय कुमार, उपाध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर, अवतार कपूर, कुलदीप कुमार, प्रदेश सहसचिव निर्माण सिंह, मनदीप चौधरी, कुल्लू जिला अध्यक्ष सोमेश डोगरा, हमीरपुर जिला अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार, ऊना जिला अध्यक्ष संजीव बग्गा, शिमला जिला अध्यक्ष मोहित शर्मा, बिलासपुर जिला अध्यक्ष नीरज शर्मा, मंडी जिला अध्यक्ष कृष्ण यादव, चंबा जिला अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार, कांगड़ा जिला अध्यक्ष सुनील पराशर, सिरमौर जिलाध्यक्ष नरेश शर्मा ने सरकार से मांग को पूरा करने की गुहार लगाई है।

प्रदेशाध्यक्ष मुनीष गर्ग ने कहा कि दो महीनों के दौरान संगठन के पदाधिकारियों ने स्थानीय एसडीएम और तहसीलदार के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को वरिष्ठता संबंधी लगभग 60 से अधिक ज्ञापन सौंपे हैं। प्रदेश के अति दुर्गम क्षेत्रों पांगी से लेकर किन्नौर जिला के सांगला तक कर्मचारी नियुक्ति की तिथि से वरिष्ठता की मांग कर रहे हैं।

लंबे अनुबंधकाल के बाद जब कर्मचारियों का नियमितीकरण किया गया तो उन्हें दो साल के प्रोवेशन पीरियड के दौरान अनुबंधकाल के समय की ग्रेड पे दी गई और उसके बाद जब नियमित ग्रेड पे दी गई तो 4-9-14 के अंतर्गत चार साल की नियमित सेवा के बाद मिलने वाली वेतन वृद्वि भी नही दी गई। जिसके पीछे यह कारण दिया गया कि आपके नियमित होने के बाद ग्रेड पे की बढ़ोतरी में आपकी 4 साल के बाद लगने वाली वेतन वृद्वि एडजेस्ट हो गयी है।

इतनी सारी वेतन विसंगतियों के बाबजूद भी कर्मचारी बिना वितीय लाभ के नियुक्ति की तिथि से वरिष्ठता की मांग कर रहे हैं और सरकार उसको देने में भी आनाकानी कर रही है जोकि ठीक नहीं है। पदाधिकारियों का कहना है कि सरकार इस पर विचार करे कि यदि कर्मचारियों को अपनी छोटी-छोटी मांगों के लिए भी धरना और प्रर्दशन व सड़कों पर उतराना पड़े तो वह अपना काम ईमानदारी से कैसे कर पाएंगे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस