कांगड़ा, जेएनएन। अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ टांडा इकाई व टांडा स्टाफ नर्स एसोसिएशन ने एमएस टांडा कार्यालय में तैनात एक महिला अधिकारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। महासंघ व स्टाफ नर्स ने महिला अधिकारी के खिलाफ स्वास्थ्य मंत्री को लिखित में शिकायत दी है, जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने स्टाफ नर्स संघ व अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के साथ बंद कमरे में बैठक की।

अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ टांडा इकाई के अध्यक्ष एसएस राणा ने उक्त महिला अधिकारी पर आरोप लगाया है कि वह वेवजह उनके कार्यों में हस्तक्षेप करती है, जबकि यह कार्य उनका नहीं है तथा जिस पद पर बैठकर आदेश देती हैं और जिस पद पर तैनात हैं, वह पद टांडा में है ही नहीं। इस दौरान टांडा की नर्सिंग सुपरिटेंडेंट लीला देवी, सीमा, अंजरा राय, विरेन्द्र कौर, भारती ठाकुर, उषा गुप्ता, अनिता चौधर, निर्मला पनवर, सुमन, वीसी मीना सूद मौजूद रहीं। उन्होंने यह भी कहा कि टांडा में उनके बैठने के लिए कोई सुविधा अस्पताल प्रशासन द्वारा नहीं दी जाती तथा रात्रि ड्यूटी के समय भी कोई फर्नीचर भी नहीं दिया जाता है, जिससे उन्हें कार्य करने में असुविधा होती है।

इस मौके पर निदेशक स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अनुसंधान डॉ. रवि चंद शर्मा, टीएमसी के प्रधानाचार्य डॉ.भानु अवस्थी, एमएस टांडा सुरेंद्र ङ्क्षसह उपस्थित थे। इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने बताया इसकी कुछ समस्याएं हैं, जिन्हें एमएस टांडा को सुलझाने के आदेश दिए हैं। जल्द ही समस्याओं को सुलझा दिया जाएगा। वहीं, एमएस टांडा ने बताया कि मंत्री के आदेश मिले हैं व शीघ्र ही मामला सुलझा लिया जाएगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस