ऊना, जेएनएन। नजदीकी ग्राम पंचायत अबादा बराना में कुछ लोगों द्वारा जबरन बंद किए गंदे नाले की समस्या का समाधान हो गया है। बीडीओ ऊना रमनवीर ने राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान एवं राष्ट्रीय दलित न्याय आंदोलन के राज्य महासचिव राज महें सहित स्थानीय ग्राम पंचायत प्रतनिधियों संग मौके का जायजा लिया।

जिसके बाद उन्होंने सुनेहरा एवं आबादा बराना जनप्रतिनिधियों को नाले को तत्काल प्रभाव से खोलने के निर्देश दिए। नाले की समस्या का समाधान होने पर लोगों ने प्रशासनिक अधिकारियों सहित एनडीएमजे का आभार व्यक्त किया है। राष्ट्रीय दलित न्याय आंदोलन के राज्य महासचिव राज महें ने बताया की जिला ऊना से बीडीओ रमनवीर ने जबरन बंद किए गए नाले के पानी की निकासी का समाधान कर दिया है। अबादा बराना पंचायत प्रधान सरवनी देवी व पंचायत सचिव संगीता को बंद नाले को खुलवाने का निर्देश दे दिया गया है।

सुनेहरा गांव की प्रधान संजना देवी भी मौजूद रही। लेकिन अबादा बराना की प्रधान सवरनी देवी व उपप्रधान पवन कुमार एक ही बात कहते रहे कि हम पानी मुख्य नाले में नहीं जाने देंगे। प्रधान और उपप्रधान ने झूठा आरोप लगाया की इस नाले में चौचालय आदि का पानी आता है। जबकि ऐसा कतई नहीं है। पूरे तथ्यों को देखने के बाद बीडीओ रमनवीर ने सुनेहरा की प्रधान को आदेश दिया की नाले में किसी घर का शौचालय का पानी न आने पाए।

बीडीओ द्वारा नाले को खुलवाने के बाद वार्ड दो व तीन के निवासियों ने उनका धन्यवाद किया है। इस अवसर पर बाबा कमलजीत, गोल्डी, जीवन, व्यासा देवी, शिव कुमार, निर्मला देवी, कांता, राजप्रीत, सरवन कुमार, सरवनी देवी, जीत राम, रेनू, संजय कुमार, आशा देवी, जोगिंदर लाल, संतोष कुमारी, पूर्व प्रधान रामधन, महिंदर कुमार, पूर्व प्रधान आशा रानी, पूर्व उपप्रधान कशमीरी लाल, रविंदर कुमार, आदि मौजूद रहे।

Edited By: Richa Rana