शिमला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश सचिवालय में सख्‍ती बढ़ा दी गई है। बुधवार को सीएम कार्यालय के उप‍सचिव के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद सरकार व प्रशासन सख्‍त हो गए हैं। सचिवालय में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। प्रदेश सचिवालय प्रशासन द्वारा वीरवार को जारी की गई अधिसूचना के अनुसार फोन पर किसी को भी प्रवेश नहीं मिलेगा और जिनका सचिवालय में बहुत महत्वपूर्ण कार्य है] उन्हें भी अब केवल परमिट पर ही प्रवेश मिलेगा। सचिवालय प्रशासन ने सख्ती से आदेश को लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। कोरोना पॉज़िटिव के सचिवालय में प्रवेश के बाद इस तरह के आदेश जारी किए गए हैं।

बताया जा रहा है मंडी का भाजपा नेता शिमला सचिवालय पहुंचा था व कई अधिकारियों से मुलाकात की थी। उक्‍त भाजपा नेता बुधवार को कोरोना संक्रमित पाया गया था। सचिवालय के अधिकारी सं‍क्रमित पाए जाने के बाद मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर भी होम क्‍वारंटाइन हो गए हैं। सीएम ने फ‍िलहाल अपने सभी कार्यक्रम रद कर दिए हैं।

वीरवार को सचिवालय से बहुत से लोगों को गेट से ही लौटा दिया गया। सचिवालय प्रशासन द्वारा जारी की गई अधिसूचना के अनुसार अब गेट प्रभारी की जिम्मेदारी तय कर दी गई है। बिना परमिट प्रवेश दिए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश सचिवालय में 1650 के करीब अधिकारी व कर्मचारी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं और हर दिन सैकड़ों लोग अपने कार्यों से सचिवालय पहुंचते हैं।

फोन पर भी नहीं मिलेगी एंट्री : देवेश कुमार

सचिवालय में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं कि सचिवालय के अधिकारियों व अन्यों द्वारा फोन पर भी प्रवेश नहीं मिलेगा। बाहरी लोगों को अब परमिट पर ही प्रवेश मिलेगा।

-देवेश कुमार, सचिव, सचिवालय प्रशासन

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस